CG: बघेल सरकार ने तैयार की राम वन गमन पथ के लिए कार्य-योजना, जानें कितना आएगा खर्च

  छत्तीसगढ़ की बघेल सरकार राम वन गमन पथ के निर्माण में जुटी है. इसके लिए सरकार ने कार्य-योजना तैयार की है. इस पथ की कुल लम्बाई 2260 किलोमीटर होगी.

CG: बघेल सरकार ने तैयार की राम वन गमन पथ के लिए कार्य-योजना, जानें कितना आएगा खर्च
फाइल फोटो

रायपुर:  छत्तीसगढ़ की बघेल सरकार राम वन गमन पथ के निर्माण में जुटी है. इसके लिए सरकार ने कार्य-योजना तैयार की है. इस पथ की कुल लम्बाई 2260 किलोमीटर होगी. विश्व स्तर पर पहचान बनाने के लिए राम वन गमन पथ को अलग रूप दिया जाएगा.

छत्तीसगढ़ सरकार ने जो कार्य-योजना तैयार की है उसके मुताबिक, खर्च के लिए 137 करोड़ 45 लाख रूपए की लागत का कॉन्सेप्ट बनाया गया है, इन स्थलों को केन्द्र सरकार की स्वदेश दर्शन योजना से जोड़ा जाएगा. साथ ही पर्यटकों की सुविधा के लिए विश्वस्तरीय अधोसंरचनाएं विकसित की जाएंगी.

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में राम वन गमन पर्यटन परिपथ विकसित करने के लिए प्रदेश के 9 स्थलों का चयन पहले ही किया गया था. इन स्थलों में सीतामढ़ी-हरचैका (कोरिया), रामगढ़ (अम्बिकापुर), शिवरीनारायण (जांजगीर-चांपा), तुरतुरिया (बलौदाबाजार), चंदखुरी (रायपुर), राजिम (गरियाबंद), सिहावा-सप्तऋषि आश्रम (धमतरी), जगदलपुर (बस्तर), रामाराम (सुकमा) शामिल हैं.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामले, 24 घंटे में सामने आए 82 मरीज

सीएम बघेल ने कहा था कि राम वन गमन पथ के विकास एवं क्षेत्र में आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के प्रयास किए जा रहे हैं. वहीं मुख्य सचिव आर.पी. मण्डल ने बताया था कि नर्मदा नदी के उद्गम स्थल अमरकण्टक की तर्ज पर सिहावा को विकसित करने और इसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने की कोशिश की जाएगी.

WATCH LIVE TV: