बैतूल गैंगरेप पीड़िता की मौत मामले में 2 आरोपी पुलिस गिरफ्त में, तीसरे की तलाश जारी

बैतूल में नाबालिग के गैंगरेप मामले में पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. पकड़े गए आरोपियों ने नाम संदीप और नितेश नाम हैं. दोनों को अमरावती से पकड़ा गया है. जबकि तीसरे आरोपी अजय की तलाश में पुलिस जुटी हुई है.

बैतूल गैंगरेप पीड़िता की मौत मामले में 2 आरोपी पुलिस गिरफ्त में, तीसरे की तलाश जारी

इरशाद हिंदुस्तानी/बैतूल: बैतूल में नाबालिग के गैंगरेप मामले में पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. पकड़े गए आरोपियों ने नाम संदीप और नितेश नाम हैं. दोनों को अमरावती से पकड़ा गया है. जबकि तीसरे आरोपी अजय की तलाश में पुलिस जुटी हुई है. वहीं इस मामले में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने जांच की बात कही.

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश के बैतूल में गैंगरेप की शिकार 14 साल की नाबालिग ने खुद को आग के हवाले कर दिया था. 95 प्रतिशत जली हालत में बच्ची को नागपुर अस्पताल ले जाया गया था, जहां उसकी मौत हो गई. बच्ची ने अपने बयान में तीन आरोपियों के नाम बताए थे. जिसके आधार पर पुलिस इनकी तलाश में जुटी थी. इसके लिए तीन टीमें बनाई गई थीं. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए संदीप और नितेश नाम के दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि, अभी भी तीसरा आरोपी अजय पुलिस गिरफ्त से बाहर है. अजय के भोपाल में ही छिपे होने की आशंका जताई जा रही है. इस पूरे मामले को लेकर पुलिस की कार्रवाई पर सवाल भी खड़े हो रहे हैं. पुलिस अभी तक ये जानकारी नहीं जुटा पाई की बच्ची के साथ किस जगह पर इस घिनौनी वारदात को अंजाम दिया गया था.  

वहीं, मध्य प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन ने मामले पर दुख जताते हुए कहा कि दोषी जल्द ही सलाखों के पीछे होंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस बात की भी जांच की जाएगी कि पीड़ित परिवार पुलिस से शिकायत करने से क्यों डरा. साथ ही उन्होंने कहा कि अपराधियों में पुलिस का खौफ होना चाहिए, आम जनता में नहीं.

आरोप है कि डेढ़ महीने पहले तीन युवकों ने नाबालिग के साथ गैंगरेप किया था. हालांकि इसकी जानकारी पीड़िता ने पहले किसी को नहीं दी थी, लेकिन जब आरोपी उसे तंग करने लगे तो उसने अपनी जान दे दी. मामले का खुलासा तब हुआ जब कोतवाली थाना इलाके के एक गांव की 14 वर्षीय बालिका को जली हालत में बुधवार रात इलाज के लिए भर्ती कराया गया था. नाजुक हालत में भर्ती पीड़िता ने इलाज के दौरान डॉक्टरों को बताया कि करीब डेढ़ महीने पहले गांव के ही तीन युवकों ने उसका गैंगरेप किया था. ये युवक उसे लगातार तंग कर रहे थे. उस पर दुराचार की शिकायत न करने के लिए दबाव बनाया जाता रहा. आरोपी युवक उससे रोज छेड़छाड़ और बदनाम करने की धमकी दे रहे थे. 

MP: किरकिरी से बैकफुट पर अधिकारी, सस्पेंड शिक्षकों को अलग बैठाने का आदेश लिया वापस