close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भिंडः पुलिस ने जिंदा आदमी को मृत समझकर गाड़ी की डिक्की में कर दिया पैक, अस्पताल पहुंचे तो खुली पोल

अस्पताल में गंभीर घायल एक युवक को तुरंत इमरजेंसी सेंटर में डॉक्टर ने इलाज के लिए भर्ती कराया, जहां घायलों को प्राथमिक उपचार दिया गया. वहीं दूसरे घायल युवक को मृत समझकर डायल 100 की डिक्की में ही छोड़ दिया गया.

भिंडः पुलिस ने जिंदा आदमी को मृत समझकर गाड़ी की डिक्की में कर दिया पैक, अस्पताल पहुंचे तो खुली पोल
सांकेतिक तस्वीर

भिंडः मध्य प्रदेश के भिंड में डायल 100 की बड़ी लापरवाही सामने आई है, जहां सड़क हादसे का शिकार हुए दो बाइक सवार घायलों को मृतक समझकर डायल 10 के कर्मचारी गाड़ी की डिक्की में जिला अस्पताल लेकर पहुंचे. जब डॉक्टर ने आरक्षक से डेड हाउस ले जाने से पहले परीक्षण करने के लिए शव देखने की बात कही तो डिक्की में पड़े युवक की सांस चल रही थी. जिसके बाद तुरंत उसे इलाज के लिए भर्ती कराया गया. यहां प्राथमिक इलाज केबाद घायलों की गंभीर हालात को देखते हुए ग्वालियर रेफर कर दिया है.

दरअसल, शुक्रवार देर शाम भिंड से करीब 10 किलोमीटर दूर नेशनल हाइवे 92 पर बरोही थाना इलाके में बने सूर्य होटल के पास भिंड से उदोतगढ़ जा रहे 2 बाइक सवारों को अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी, हादसे में दोनों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. आसपास से गुजर रहे लोगों ने घटना की जानकारी डायल 100 और बरोही पुलिस को दी, जिसके बाद दोनों घायलों को लेकर जिला अस्पताल पहुंचाया गया. इन सबके बीच डायल 100 की बड़ी लापरवाही सामने आई. जहां दोनों घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाने से पहले डायल 100 में मौजूद ड्राइवर और बरोही थाने के आरक्षक ने दो में से एक घायल को मृतक समझकर डिक्की में डाल दिया और उसी हालत में उस जिला अस्पताल लेकर आए.

देखें लाइव टीवी

'अक्की' को पूर्व डकैत मलखान सिंह की चेतावनी, 'पृथ्वीराज पर बन रही फिल्म के तथ्यों से छेड़छाड़ की तो...'

अस्पताल में गंभीर घायल एक युवक को तुरंत इमरजेंसी सेंटर में डॉक्टर ने इलाज के लिए भर्ती कराया, जहां घायलों को प्राथमिक उपचार दिया गया. वहीं दूसरे घायल युवक को मृत समझकर डायल 100 की डिक्की में ही छोड़ दिया गया. जब आरक्षक वीरबहादुर सिंह ने बॉडी शवगृह ले जाने की बात को डॉक्टर ने एक बार जांच की बात कही और डिक्की में मौजूद युवक का परिक्षण किया तो उसकी सांसे चल रही थीं. जिसके बाद तुरंत उसे भर्ती कर इलाज मुहैया कराया गया.