close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भोपालः गांव में जाने के लिए नहीं थी सड़क, तो शव को कंधे पर लेकर अस्पताल पहुंची पुलिस

बैरसिया थाना क्षेत्र के ढेकपूर गांव में रहने वाली 35 वर्षीय कला बाई पति जगदीश संतान नही होने से दुखी थी. कला बाई ने मंगलवार फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. 

भोपालः गांव में जाने के लिए नहीं थी सड़क, तो शव को कंधे पर लेकर अस्पताल पहुंची पुलिस
गांव में वाहन न आ पाने के कारण परिजनों की मदद से शव खाट पर रखकर अस्पताल की मॉर्चरी ले आए.

भोपाल: मध्यप्रदेश के बैरसिया जिले में पुलिस ने ऐसा काम किया है, जिसकी चर्चा हर जगह हो रही है. बैरसिया में सड़क खराब होने के कारण जब गांव में शव वाहन नहीं पहुंचा तो पुलिस ने मृतक के परिजनों का साथ किया और 3 किलोमीटर तक परिजनों के साथ शव को कंधा देकर उसके स्थान पर पहुंचाया. 

महिला ने की थी खुदकुशी
बैरसिया थाना क्षेत्र के ढेकपूर गांव में रहने वाली 35 वर्षीय कला बाई पति जगदीश संतान नही होने से दुखी थी. कला बाई ने मंगलवार फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. मामले की जानकारी होने पर जब मौके पर पहुंची तो मृतक कला बाई के घर पहुंची तो देखा की जाने का रास्ता खराब था. इसलिए गांव में कोई वाहन नही ले जाया जा सकता.

ऐसे खाट पर शव लेकर आई पुलिस
फंदे से शव उतारकर पुलिस उसे पोस्टमार्टम के लिए लाने लगी. गांव में वाहन न आ पाने के कारण परिजनों की मदद से शव खाट पर रखकर अस्पताल की मॉर्चरी ले आए. शव को अस्पताल लाने के बाद उसका पोस्टमार्टम कराया गया और फिर शव को परिजनों को सौंप दिया गया. पुलिस का एक ग्रामीण के शव को ऐसे कंधों पर उठाकर लाने की चर्चा हर जगह हो रही है.