भोपालः 5 बीवियों के खर्च पूरा करने के लिए युवक ने 50 नर्सों से की ठगी, ऐसे हुआ खुलासा

एसटीएफ के मुताबिक खास बात ये है कि गिरोह का सरगना दिलशाद खान की पांच पत्नियां हैं और वह इन्हीं पांच बीवियों के भारी भरकम खर्च को पूरा करने के लिए ठगी करता था. 

भोपालः 5 बीवियों के खर्च पूरा करने के लिए युवक ने 50 नर्सों से की ठगी, ऐसे हुआ खुलासा
एसटीएफ ने नर्सों से ठगी करने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

भोपालः मध्य प्रदेश एसटीएफ ने एम्स में नर्स के पद पर भर्ती कराने का झांसा देकर ठगी करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है. एसटीएफ के मुताबिक खास बात ये है कि गिरोह का सरगना दिलशाद खान की पांच पत्नियां हैं और वह इन्हीं पांच बीवियों के भारी भरकम खर्च को पूरा करने के लिए ठगी करता था. दरअसल, पुलिस को शिकायत मिली थी कि कुछ लोग महिलाओं को एम्स में नर्स की नौकरी का झांसा देकर उनसे पैसे ऐंठ रहे हैं. 

जांच और छानबीन के बाद एसटीएफ ने इस गिरोह के सरगना जबलपुर के रहने वाले दिलशाद खान और भोपाल के रहने वाले आलोक कुमार बामने को गिरफ्तार  किया. एसटीएफ के एडीजी अशोक अवस्थी ने बताया कि ये गिरोह अब तक 50 से ज्यादा लड़कियों के साथ ठगी कर चुका है. पकड़े गए आरोपियों से फर्जी नियुक्ति पत्र और दिल्ली एम्स की फर्जी चयन सूची भी मिली  है.

देखें LIVE TV

नाबालिग लड़कियों के लिए MP के शहर असुरक्षित, ह्यूमन ट्रैफिकिंग के आंकड़ों में हुआ खुलासा

एसटीएफ अब आरोपियों से इनके एम्स भोपाल और दिल्ली के डॉक्टरों से सम्पर्क की जांच कर रही है. इस मामले में एक आरोपी धर्मा अभी फरार है. जिसकी तलाश की जा रही है. एसटीएफ अब आरोपियों से एम्स भोपाल और दिल्ली के डॉक्टरों से सम्पर्क कर रही है और जांच कर रही है. आरोपी ठगी का पैसा ऑनलाइन ट्रांसफर करवाते थे.