यश पाठे सुसाइड केस में मुख्य आरोपी श्रुति शर्मा और आकाश सोनी को मिली जमानत

विशेष अदालत के न्यायाधीश अनिल गुप्ता ने बुधवार देर शाम दोनों को 25-25 हजार की जमानत पर रिहा करने के आदेश दिए.

यश पाठे सुसाइड केस में मुख्य आरोपी श्रुति शर्मा और आकाश सोनी को मिली जमानत
बचाव पक्ष ने कोर्ट में कहा कि आत्महत्या रात में की गई थी. वहीं, पुलिस ने मर्ग सुबह कायम किया था.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली/भोपालः बैतूल के यश पाठे सुसाइड केस की मुख्य आरोपी श्रुति शर्मा और आकाश सोनी के जमानत मिल गयी है. विशेष अदालत के न्यायाधीश अनिल गुप्ता ने बुधवार देर शाम दोनों को 25-25 हजार की जमानत पर रिहा करने के आदेश दिए.  इसके पहले इस मामले में जमानत का विरोध करने के लिए सरकारी वकील समेत करीब पचास वकीलों ने अदालत को मेमो सौंपा था. कोर्ट ने वकीलों के मेमो को नजरअंदाज करते हुए आरोपियों को जमानत दे दी. बचाव पक्ष ने मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट में कहा कि आत्महत्या रात में की गई थी. वहीं, पुलिस ने मर्ग सुबह कायम किया था. कोर्ट ने वकीलों के इस तर्क को आधार मानते हुए आरोपियों को जमानत दे दी. कोर्ट में बचाव पक्ष ने यह भी कहा कि आकाश 15 दिन से जेल में है और श्रुति को भी जेल भेज दिया गया है. दोनों के विरुद्ध आत्महत्या के लिए उकसाने के कोई साक्ष्य नही मिले हैं. इस आदेश के बाद संभावना है कि श्रुति और आकाश गुरूवार को जेल से रिहा हो जाएंगे. 

कपड़े उतरवाकर यश के साथ बेल्ट से की गई थी मारपीट, तनाव के चलते की खुदकुशी

रैगिंग से परेशान होकर की थी आत्महत्या
गौरतलब है कि भोपाल के लक्ष्मीनारायण कॉलेज में अध्ययनरत बैतूल के रहने वाले छात्र यश पाठे ने रैगिंग से परेशान होकर आत्महत्या कर ली थी. उसके पिता प्रहलाद पाठे ने बताया था कि पिछले वर्ष उन्होंने उनके पुत्र यश पाठे का एडमिशन भोपाल के लक्ष्मीनारायण मेडिकल कॉलेज में करवाया था, जहां कॉलेज में पढ़ने वाले कुछ सीनियर छात्र-छात्राओं ने यश की रैगिंग ली थी, जिसकी शिकायत करने के बाद भी आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई थी. वहीं, यश पाठे की खुदकुशी के बाद यश का एक वीडियो सामने आया था. जिसमें उसे कुछ बेल्ट से बुरी तरह पीट रहे थे. बता दें 11 जून को यश के साथ उसके कुछ सीनियर्स ने रैगिंग के नाम पर बुरी तरह से मारपीट की थी. जिससे यश काफी आहत था. मारपीट के बाद ही यश ने 13 जून को बैतूल आकर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी.

यश पाठे सुसाइड केस: मुख्य आरोपी श्रुति शर्मा हिरासत में, साइबर सेल ने पुणे में पकड़ा

यश ने श्रुति के साथ ली थी ड्रग्स
यश को खुदकुशी करने के लिए उकसाने के मामले में पुलिस ने यश की सीनियर श्रुति शर्मा और उसके दोस्त गौरव दुबे सहित अन्य लोगों को आरोपी बनाया है और पूरा मामला ड्रग से जुड़ा बताया जा रहा है. पुलिस के मुताबिक जिस दिन यश के साथ मारपीट हुई थी उसी दिन यश ने श्रुति के साथ ड्रग्स भी ली थी. नशे के चलते दोनों में कुछ कहा-सुनी हो गई थी. जिसके चलते श्रुति के कहने पर ही यश के साथ मारपीट की गई थी. बता दें श्रुति, विधानसभा के पूर्व सचिव सत्नारायश शर्मा की बेटी है. श्रुति के दोस्त गौरव दुबे ने पुलिस कस्टडी में बताया कि यश को ड्रग्स की लत भी श्रुति ने ही लगवाई थी.