तालाब में नहाने वाले बच्चों से पुलिस ने लगवाई थी उठक-बैठक, मामला पहुंचा NCPCR

दरअसल, रविवार के दिन कुछ बच्चे वीआईपी रोड के पास तालाब में नहा रहे थे, तभी गोताखोरों की एक टीम ने उन्हें पकड़ लिया. इस बीच डायल-100 भी पहुंच गई, जिन्हें देखकर बच्चे भागने लगे. जहां कुछ बच्चों को पकड़कर पुलिस ने उनसे उठक बैठक लगवाई थी.

तालाब में नहाने वाले बच्चों से पुलिस ने लगवाई थी उठक-बैठक, मामला पहुंचा NCPCR

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में नाबालिगों को अर्धनग्न अवस्था में उठक-बैठक और जुलूस निकालने के मामले में राष्ट्रीय बाल अधिकार सरंक्षण आयोग (National Commission for Protection of Child Rights) ने संज्ञान लिया है. आयोग ने भोपाल एसपी को वायरल वीडियो को सोशल प्लेटफॉर्म से हटाने का निर्देश दिया है. साथ ही बच्चों की उम्र का प्रमाण-पत्र और सम्बंधित अधिकारियों पर की गई कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है. 

बच्चों के भागने पर लगवाई थी उठक-बैठक 
दरअसल, रविवार के दिन कुछ बच्चे वीआईपी रोड के पास तालाब में नहा रहे थे, तभी गोताखोरों की एक टीम ने उन्हें पकड़ लिया. इस बीच डायल-100 भी पहुंच गई, जिन्हें देखकर बच्चे भागने लगे. जहां कुछ बच्चों को पकड़कर पुलिस ने उनसे उठक बैठक लगवाई. वहीं इस मामले में गोताखोर और पुलिस टीम का कहना है कि आए दिन बड़े तालाब में हादसे होते रहते हैं .कई बार बच्चों को मना किया जाता है. इन्हें सबक सिखाने के लिए यह सजा दी गई.

एक्सीडेंट का इंतजार करते थे ये चोर, पकड़े जाने पर बोले- बीमा कंपनी से है सेटिंग

मामले की जांच के आदेश 
बच्चों से उठक-बैठक लगवाने का वीडियो वायरल हुआ तो भोपाल पुलिस की जमकर आलोचना हुआ. पुलिस की इस अमानवीय हरकत के बाद मामले को लेकर जांच के आदेश दिए गए. बड़े तालाब में नाबालिगों के स्वीमिंग को लेकर बच्चों की परेड और उठक बैठक के वीडियो को लेकर एएसपी आरएस मिश्रा ने कहा था कि इस पूरे मामले की जांच की जाएगी. जिसकी लापरवाही सामने आएगी उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. 

WATCH LIVE TV