close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़ में धान पर शुरू हुई रार, दिल्ली में प्रदर्शन करेगी भूपेश सरकार

पिछ्ले साल तक केंद्र सरकार 24 लाख मीट्रिक टन चावल खरीद रही थी, जिसे इस बार बढ़ाकर 32 लाख मीट्रिक टन करने की मांग राज्य सरकार कर रही है.

छत्तीसगढ़ में धान पर शुरू हुई रार, दिल्ली में प्रदर्शन करेगी भूपेश सरकार
सीएम भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री को पत्र भी लिखा था. जिसका समर्थन करते हुए राज्यपाल ने भी प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है.

रायपुर: धान और सेंट्रल पूल में चावल खरीदी के मसले पर छत्तीसगढ़ सरकार और केंद्र सरकार के बीच टकराव बढ़ने के आसार हैं. सूत्रों के अनुसार, छत्तीसगढ़ कांग्रेस दिल्ली में केंद्र सरकार के खिलाफ बड़े आंदोलन की तैयारी में है. अगर केंद्र सरकार इस हफ्ते राज्य सरकार की ओर से 2500 रुपये समर्थन मूल्य देने पर सेंट्रल पूल में चावल नहीं खरीदने का फैसला वापस नहीं लेती है, तो कांग्रेस प्रदेश संगठन दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना प्रदर्शन करेगी. बताया जा रहा है कि इसको लेकर पार्टी में रणनीति भी बननी शुरू हो गई है.

जंतर-मंतर के साथ ही कांग्रेस पार्टी प्रधानमंत्री निवास पर भी धरना दे सकती है. बता दें कि केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को पत्र भेजकर कहा है कि अगर राज्य सरकार बोनस देती है, यानी तय समर्थन मूल्य में बोनस जोड़कर 2500 रुपये प्रति क्विंटल धान की खरीदी करती है. तो, केंद्र सरकार छत्तीसगढ़ से चावल की खरीदी नहीं करेगा. ऐसे में प्रदेश में धान खरीदी के संकट की आशंका जताई जा रही है. इस बार राज्य सरकार ने 85 लाख मीट्रिक टन से ज्यादा धान खरीदी का लक्ष्य रखा है. 

जानकारी के मुताबिक, पिछ्ले साल तक केंद्र सरकार 24 लाख मीट्रिक टन चावल खरीद रही थी, जिसे इस बार बढ़ाकर 32 लाख मीट्रिक टन करने की मांग राज्य सरकार कर रही है. इसके लिए सीएम भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री को पत्र भी लिखा था. जिसका समर्थन करते हुए राज्यपाल ने भी प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है.