धान खरीदी को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूर्व CM रमन सिंह में छिड़ी ट्विटर वॉर

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूर्व सीएम रमन सिंह के बीच इस मुद्दे पर ट्विटर पर शेरो-शायरी में आरोप प्रत्यारोप का दौर चल रहा है.

धान खरीदी को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूर्व CM रमन सिंह में छिड़ी ट्विटर वॉर
छत्तीसगढ़ में शुरू हुई ट्विटर वॉर का भले ही कोई अंजाम निकले. लेकिन, इसमें पिस केवल छत्तीसगढ़ का किसान ही रहा है.

रायपुर: छत्तीसगढ़ में धान खरीदी को लेकर सड़क से लेकर सदन तक हंगामा जारी है. इसी के साथ ही कांग्रेस और बीजेपी के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी जारी है. वहीं, इस तकरार ने अब ट्विटर वॉर का रूप ले लिया है. दरअसल, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूर्व सीएम रमन सिंह के बीच इस मुद्दे पर ट्विटर पर शेरो-शायरी में आरोप प्रत्यारोप का दौर चल रहा है.

धान खरीदी के लेकर पूर्व सीएम रमन सिंह ने ट्वीट किया कि कमेटी के कांधों पर अपने वादे कब तक लादोगे, हर मोड़ पर जनता पूछेगी कितनी दूर तलक भागोगे. बीजेपी नेता रमन सिंह ने आगे लिखा कि सीएम भूपेश बघेल जी झूठे वादों और खोखली कमेटियों का क्या निष्कर्ष निकलता है, वह तो जनता शराबबंदी के वादे पर भी देख चुकी है. अब किसानों के साथ पुनः यही विश्वासघात स्वीकार्य नहीं है.

 

 

वहीं, रमन सिंह के ट्वीट का सीएम भूपेश बघेल ने भी शायराना अंदाज में जवाब दिया. भूपेश बघेल ने लिखा कि कैसे-कैसे ये मंजर सामने आने लगे, "नान" वाले "धान" पर सवाल उठाने लगे. वादा किया है किसानों से, हर हाल में निभायेंगे "पनामा" नहीं किसानों की "जेब" भरकर दिखायेंगे. सीएम बघेल ने आगे लिखा कि किसान भाई ध्यान रखें, भ्रम में न आएं. आपका भूपेश 2500 रुपए प्रति क्विंटल ही धान का मूल्य दिलवाएगा.

 

 

छत्तीसगढ़ में शुरू हुई ट्विटर वॉर का नतीजा कुछ भी निकले. लेकिन, इसमें पिस केवल छत्तीसगढ़ का किसान ही रहा है. गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार ने कुछ समय पहले ही धान खरीदी की तारीख को आगे बढ़ा दिया है. इसके बाद से ही किसानों में काफी गुस्सा भर गया है.