इलाज न होने के कारण हुई नक्सल लीडर रमन्ना की मौत: बस्तर आईजी

सुंदरराज पी का कहना है की रमन्ना की मौत पुलिस के दबाव के चलते हुई है.

इलाज न होने के कारण हुई नक्सल लीडर रमन्ना की मौत: बस्तर आईजी
बस्तर आईजी सुंदरराज पी

बस्तर: बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने नक्सल संगठन में नेता के चुनाव और नक्सल लीडर रमन्ना की मौत पर बड़ा खुलासा किया है. सुंदरराज पी का कहना है की रमन्ना की मौत पुलिस के दबाव के चलते हुई है. बीमार होने के बाद पुलिस के दबाव के चलते संगठन रमन्ना का इलाज नहीं करवा पाया, जिसकी वजह से उसकी मौत हो गयी.   

दरअसल नक्सल संगठन के दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमिटी के सदस्य और वांछित नक्सली रमन्ना की बीते दिनों बीमारी के चलते मौत हो गयी थी. रमन्ना की मौत बीजापुर जिले के पालागुड़ा में हुई थी, बोटेलंका में उसके अंतिम संस्कार की फोटो सामने आयी थी. रमन्ना1.50 करोड़ का इनामी नक्सल था, जिसकी तलाश छह राज्यों की पुलिस को थी. लंबी बीमारी के कारण 7 दिसंबर को रमन्ना की मौत हो गई थी. 

इस मामले पर सुंदरराज का ये भी कहना है कि रमन्ना की मौत के बाद उसके पद की जिम्मेदारी संभालने के लिए कोई भी नेता सामने नहीं आ रहा है. पुलिस का दबाव के चलते इस इलाके के बड़े नक्सल लीडर आर.के और गणेश उइके भी इस पद को संभालना नहीं चाहते. सुंदरराज ने कहा कि वर्ष 2019 सुरक्षाबलों और पुलिस के लिए नक्सल मोर्चे पर बेहद सकारात्मक रहा है.