बीजापुरः इंद्रावती नदी में नाव पलटने से 1 साल के मासूम सहित 4 महिलाएं बहीं

बता दें नक्सली इलाका होने के कारण इस क्षेत्र में आज तक नदी पर पुल का निर्माण नहीं हो पाया है. जिससे लोगों को ऐसे ही अपनी जान खतरे में डालकर नाव के सहारे ही नदी पार करना पड़ता है.

बीजापुरः इंद्रावती नदी में नाव पलटने से 1 साल के मासूम सहित 4 महिलाएं बहीं
लकड़ी की नाव में क्षमता से अधिक लोग सवार थे

नई दिल्लीः छत्तीसगढ़ के बीजापुर में इंद्रावती नदी में तेज बहाव के कारण नाव पलटने से बड़ा हादसा हो गया है. नाव पलटने से 1 साल के मासूम सहित चार महिलाएं नदी में बह गईं. जिनका अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है. मिली जानकारी के मुताबिक ये सभी लोग एक लकड़ी की नाव में सवार होकर बेलनार से भैरमगढ़ जा रहे थे. तभी अचानक से नदी में पानी का बहाव तेज हो गया और नाव पलट गई. जिससे नदी में चार महिलाओं सहित एक बच्चा भी बह गया. घटना भैरमगढ़ तहसील के चतुआ घाट की है. भैरमगढ़ तहसील के नायाब तहसीलदार विनोद साहू ने घटना की पुष्टी की है.

बीजापुर: IED ब्लास्ट की चपेट में आए दो मासूम, 1 की मौत एक घायल

नाव में सवार थे 12 से अधिक यात्री
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक लकड़ी की नाव में क्षमता से अधिक लोग सवार थे. नाव में करीब 12 लोग सवार थे, जबकि नाव में केवल 6 से 7 लोगों के लिए जगह थी. ऐसे में जैसे ही नदी में पानी का बहाव तेज हुआ, नाव हिलकोरे खाने लगी. जिससे नाव में ज्यादा यात्री बैठे होने की वजह से नाव का बैलेंस बिगड़ गया और नाव बीच नदी में पलट गई, नाव के पलटने पर 7 लोग तो जैसे-तैसे बाहर आ गए, लेकिन चार महिलाएं और एक बच्चा नदी में बह गया. इन पांचो ही लोगों का अब तक कोई सुराग नहीं मिला है.

IED ब्लास्ट में स्निफर डॉग 'क्रेकर' ने अपनी जान देकर बचाया CRPF जवानों को

नाव की क्षमता से अधिक यात्री सवार
वहीं नदी में नाव पलटने की खबर पर मौके पर पहुंचे एसडीआरएफ के जवानों ने घटनास्थल पर राहत बचाव कार्य शुरू कर दिया है और चारों लोगों की खोज जारी है, लेकिन अभी तक किसी का कोई पता नहीं चला है. मौके पर पहुंचे भैरमगढ़ तहसीलदार सहित पुलिस अधिकारी भी मौके पर मौजूद हैं. बता दें नक्सली इलाका होने के कारण इस क्षेत्र में आज तक नदी पर पुल का निर्माण नहीं हो पाया है. जिससे लोगों को ऐसे ही अपनी जान खतरे में डालकर नाव के सहारे ही नदी पार करना पड़ता है. जिसके चलते आए दिन ऐसी घटनाएं होती रहती हैं.