अयोध्या में भूमिपूजन से पहले MP कांग्रेस कर रही हनुमान चालीसा की तैयारी, BJP ने बताया दिखावा

माना जा रहा है कि कांग्रेस ने ये भगवा पैंतरा वक्त को देखते हुए फैंका गया है. 5 अगस्त को जब पूरे देश की निगाहें अयोध्या में राम मंदिर पूजन पर होंगी, तो कांग्रेस को लगता है बीजेपी मंदिर निर्माण का पूरा क्रेडिट लेकर कांग्रेस को हिन्दू विरोधी करार दे सकती है. इसलिए हनुमान और राम भक्ति के जरिए कांग्रेस अपनी आस्था को दिखाने कोशिश कर रही है.

अयोध्या में भूमिपूजन से पहले MP कांग्रेस कर रही हनुमान चालीसा की तैयारी, BJP ने बताया दिखावा
सांकेतिक तस्वीर

संदीप भम्मरकर/भोपाल: मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने अब एक नया भगवा पैंतरा फैंका है. 5 अगस्त को अयोध्या में पीएम मोदी द्वारा भूमिपूजन से ठीक एक दिन पहले एमपी में भी एक उत्सव मनाने की तैयारी हो रही है. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ अपने बंगले पर मंगलवार 4 अगस्त को हनुमान चालीसा का पाठ कर विशेष राम पूजन करेंगे. सारे कांग्रेस कार्यकर्ता भी उसी वक्त अपने घर या पास के मंदिर में विशेष पूजन कर इस पूजा में शरीक होंगे. बताया जा रहा है कि कांग्रेस ने आम लोगों से भी इस कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की है. 

माना जा रहा है कि कांग्रेस ने ये भगवा पैंतरा वक्त को देखते हुए फैंका गया है. 5 अगस्त को जब पूरे देश की निगाहें अयोध्या में राम मंदिर पूजन पर होंगी, तो कांग्रेस को लगता है बीजेपी मंदिर निर्माण का पूरा क्रेडिट लेकर कांग्रेस को हिन्दू विरोधी करार दे सकती है. इसलिए हनुमान और राम भक्ति के जरिए कांग्रेस अपनी आस्था को दिखाने कोशिश कर रही है.

ये भी पढ़ें-छत्तीसगढ़ सरकार का कैदियों को रक्षाबंधन गिफ्ट, अपनी बहनों से वीडियो कॉल पर कर सकेंगे बात

बताया जा रहा है कि एमपी कांग्रेस के सोशल मीडिया डिपार्टमेंट को इस आयोजन के लिए युद्ध स्तर पर तैयार किया जा रहा है. सोशल डिस्टेंसिंग के दौर में इस कार्यक्रम को करने के लिए किसी एक जगह पर कोई बड़ा आयोजन नहीं किया जा रहा है. बल्कि अपने घरों और करीब के मंदिरों में कोरोना गाइडलाइन का पालन कर ही इस पूजा को किया जाएगा. सोशल मीडिया डिपार्टमेंट इन सारे वीडियो और तस्वीरों को एमपी कांग्रेस के सोशल मीडिया एकाउंट पर साझा कर तारीफें बटोरने की तैयारी में है.

कांग्रेस की इस तरकीब को बीजेपी प्रवक्ता आशीष अग्रवाल ने दिखावा बताते हुए कहा, ''सब कुछ गंवा कर होश में आये तो क्या आये.'' अग्रवाल ने कहा कि राम मंदिर को लेकर कोर्ट में कांग्रेस ने ही राम के अस्तित्व के खिलाफ दलीलें पेश की थी. कांग्रेस नेता तुष्टिकरण की राजनीति करते हुए हमेशा राम मंदिर के खिलाफ ही नजर आये हैं. अब हवा का रुख देखते हुए अपना रूख बदला जा रहा है.

बता दें कि कांग्रेस के मीडिया कोर्डिनेटर नरेंद्र सलूजा ने कहा, ''कमल नाथ इस दिन अपने बंगले पर विशेष पूजन करेंगे. उन्होंने कहा कि हम श्रीराम और अयोध्या में रामलला मंदिर के प्रति आस्था रखते हैं, उसपर  राजनीति नहीं करते हैं. 

सलूजा ने याद दिलाते हुए कहा कि 15 महीने मध्य प्रदेश में सरकार में रहने के दौरान महाकाल मंदिर और ओंकारेश्वर मंदिर जीर्णोद्धार के लिए विशेष पैकेज दिया गया. गौशालाएं खोली गयीं, राम वन गमन पथ पर काम किया गया. कमल नाथ खुद हनुमानजी के चरणसेवक के तौर पर बिना दिखावा काम करते हैं. हम धर्म पर पूरी आस्था रखते हैं लेकिन धर्म के नाम पर राजनीति नहीं करते.

Watch LIVE TV-