BJP में जाने की चर्चाओं के बीच अरुण यादव ने किया ये ट्वीट, सिंधिया को लेकर बड़ी बात

अरुण यादव खंडवा के जमीनी नेता हैं और वह यहां से सांसद भी रह चुके हैं. अरुण यादव केंद्र में मंत्री भी रहे और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के पद की जिम्मेदारी भी साढ़े चार साल तक निभाई.

BJP में जाने की चर्चाओं के बीच अरुण यादव ने किया ये ट्वीट, सिंधिया को लेकर बड़ी बात
अरुण यादव. फाइल फोटो.

भोपालः उपचुनाव के चलते मध्य प्रदेश में राजनीतिक माहौल गरमाया हुआ है. इस बीच खंडवा लोकसभा सीट से कांग्रेस के संभावित उम्मीदवार अरुण यादव की नाराजगी की बात सामने आ रही है. ऐसे माहौल में चर्चाएं चल रहीं थी कि अरुण यादव, भाजपा में शामिल हो सकते हैं. यदि ऐसा होता तो यह मध्य प्रदेश में कांग्रेस के लिए बड़ा झटका साबित होता. हालांकि अब अरुण यादव ने ही खुद ट्वीट करके इन चर्चाओं को खारिज कर दिया है. 

"मेरे नाम के आगे 'यादव' लिखा है, 'सिंधिया' नहीं"
अरुण यादव ने आज ट्वीट कर भाजपा पर निशाना साधा. साथ ही यादव ने बातों ही बातों में ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर भी बड़ी बात कह दी. अपने ट्वीट में अरुण यादव ने लिखा कि "मेरे शरीर व परिवार के रक्त की एक-एक बूंद में कांग्रेस विचारधारा का प्रवाह होता है. मुझ सहित समूचे परिवार के नाम के आगे "यादव" लिखा जाता है, "सिंधिया" नहीं. अलगाववादी ताकतों को मुंह की खानी पड़ेगी". अपने इस ट्वीट के साथ अरुण यादव ने इंडियन नेशनल कांग्रेस, एमपी कांग्रेस, राहुल गांधी, कमलनाथ, दिग्विजय सिंह और मुकुल वासनिक को भी टैग किया. 

सिंधिया पर कसा तंज
बीते साल ज्योतिरादित्य सिंधिया की अगुवाई में कांग्रेस के 22 विधायकों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली थी. जिसके बाद एमपी की सत्ता पर काबिज कमलनाथ सरकार 15 माह में ही गिर गई थी. यही वजह है कि अरुण यादव ने अपने ट्वीट में ज्योतिरादित्य सिंधिया पर सीधा तंज कसा है. 

बीजेपी को मिल सकती है कड़ी चुनौती
दिवंगत सांसद नंद कुमार चौहान के निधन के बाद से खंडवा लोकसभा सीट पर भाजपा के पास मजबूत विकल्प का अभाव है. वहीं अरुण यादव खंडवा के जमीनी नेता हैं और वह यहां से सांसद भी रह चुके हैं. अरुण यादव केंद्र में मंत्री भी रहे और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के पद की जिम्मेदारी भी साढ़े चार साल तक निभाई. यही वजह है कि खंडवा लोकसभा सीट को वापस पाने में भाजपा को काफी मेहनत करनी पड़ेगी. 

अरुण यादव की नाराजगी से मिली चर्चाओं को हवा
खंडवा लोकसभा सीट पर उपचुनाव को लेकर अरुण यादव खासे सक्रिय हैं और लोगों से मिल रहे हैं. ऐसे में माना जा रहा था कि कांग्रेस उपचुनाव में अरुण यादव को ही टिकट देगी. लेकिन हाल ही में निर्दलीय विधायक सुरेश सिंह शेरा ने कमलनाथ से मुलाकात की. जिसके बाद शेरा की पत्नी के भी खंडवा से चुनाव लड़ने की चर्चाएं शुरू हो गई हैं. 

वहीं हाल ही में जब कमलनाथ से अरुण यादव को चुनाव मैदान में उतारने के लेकर सवाल हुआ तो उन्होंने कहा कि 'उन्होंने (अरुण यादव) मुझसे चुनाव लड़ने के लिए ना कभी कहा और ना कभी इच्छा जाहिर की'. कमलनाथ के इस बयान के बाद ऐसी खबरें आईं कि अरुण यादव नाराज हैं.