close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फिर गरमाई छत्तीसगढ़ की सियासत, किसानों को बोनस देने पर धान नहीं खरीदेगी केंद्र सरकार: सूत्र

कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि धान खरीदी को लेकर केन्द्र सरकार धमका रही है. पत्र भेजकर कह रही है कि बोनस दिया तो चावल नहीं खरीदेंगे. ये रवैया किसान विरोधी है.  

फिर गरमाई छत्तीसगढ़ की सियासत, किसानों को बोनस देने पर धान नहीं खरीदेगी केंद्र सरकार: सूत्र
अगर ऐसा हुआ तो प्रदेश में धान खरीदी पर संकट गहरा सकता है.

रायपुर: बार-बार केन्द्र सरकार (Central Government) से ज्यादा धान खरीदने (Paddy Purchase) की मांग करने वाली छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh Government) को झटका लगा है. सूत्रों के हवाले से बड़ी ख़बर है कि इस संबंध में राज्य सरकार को केन्द्र सरकार की तरफ से एक पत्र मिला है. इस पत्र में केन्द्र सरकार ने राज्य सरकार को कहा है कि अगर राज्य सरकार धान खरीदी पर किसानों को बोनस देगी तो केन्द्र सरकार चावल की खरीदी नहीं करेगी. 

 यानि केन्द्र सरकार ने साफ किया है कि राज्य सरकार को या तो बोनस देना बंद करना होगा या केन्द्र से चावल खरीदने की आशा रखनी होगी. अगर ऐसा हुआ तो प्रदेश में धान खरीदी पर संकट गहरा सकता है.

दरअसल, छत्तीसगढ़ सरकार ने इस बार 85 लाख मीट्रिक टन धान खरीदी का लक्ष्य रखा है और छत्तीसगढ़ सरकार चाहती थी कि केन्द्र सरकार उससे 32 लाख मीट्रिक धान खरीदे, जबकि केन्द्र सरकार ने पिछले साल राज्य से सिर्फ 24 लाख मीट्रिक टन धान ही लिया था.

लाइव टीवी देखें

वहीं, धान खरीदी को लेकर केन्द्र सरकार से राज्य सरकार को पत्र लिखने की ख़बर पर कांग्रेस का बयान आया है. कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि धान खरीदी को लेकर केन्द्र सरकार धमका रही है. पत्र भेजकर कह रही है कि बोनस नहीं दिया तो चावल नहीं खरीदेंगे. ये रवैया किसान विरोधी है.

कांग्रेस के आरोपों पर बीजेपी के सांसद सुनील सोनी ने पलटवार किया है. सुनील सोनी ने कहा कि जब कांग्रेस ने जनता से वादा किया था कि वो धान पर बोनस देंगे तो अब बोनस के लिए केन्द्र सरकार की तरफ क्यों देख रहे हैं. कांग्रेस अपने बूते पर अपने वादे पूरे करें.