CG: मतदाताओं को लुभाने के लिए 10 रुपये किलो बिक रहा था चिकन, चुनाव आयोग ने मारा छापा
topStories1rajasthan469517

CG: मतदाताओं को लुभाने के लिए 10 रुपये किलो बिक रहा था चिकन, चुनाव आयोग ने मारा छापा

जिन भी मतदाताओं के पास यह नोट हैं वह चिकन शॉप्स पर जाते हैं और इन 10 के नोटों को दिखाकर चिकन ले आते हैं.

Trending Photos

    कोरबाः छत्तीसगढ़ के कोरबा में मतदान से ठीक पहले मतदाताओं को लुभाने के लिए प्रत्याशियों की एक खास तरकीब का खुलासा हुआ है. यहां कुछ राजनीतिक पार्टियों ने ऐसी चिकन शॉप्स से टाइअप कर लिया है जो वोटर्स को 10 रुपये किलो में चिकन मुहैया करा रही हैं. 10 रुपये किलो चिकन के लिए इन राजनीतिक पार्टियों ने कुछ खास सीरियल नबंर वाले नए नोट आस-पास के इलाकों के रहवासियों में बंटवाए हैं, जिन्हें टोकन की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है. जिन भी मतदाताओं के पास यह नोट हैं वह चिकन शॉप्स पर जाते हैं और इन 10 के नोटों को दिखाकर चिकन ले आते हैं. यही नहीं मतदाताओं को 10 रुपये में चिकन मिल सके इसके लिए इलाके का प्रभारी पूरे समय दुकानदार के संपर्क में रहता है.

    200 किलो चिकन जब्त
    बता दें मतदाताओं को लुभाने के लिए इस तरह के प्रलोभन देना आदर्श आचार संहिता की श्रेणी में आता है. जिसके चलते शिकायत मिलने पर चुनाव आयोग ने इस सभी चिकन शॉप्स पर छापा मारा और कई किलो चिकन जब्त किया है. दरअसल, क्षेत्र के लोगों को उसी दस रुपये के नोट पर चिकन उपलब्ध कराया जा रहा है जिसे दल के प्रत्याशियों ने जारी किया है. वहीं दस रुपये में चिकन मिलने की सूचना मिलने पर जिला निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव आयोग की उड़नदस्ता टीम के साथ मिलकर मुड़ापार कोरबा स्थित सरदार चिकन सेंटर से 103 किलो चिकन और इतवारी बाजार शब्बीर चिकन सेंटर से 80 किलो चिकन जब्त किया है.
    Korba: Chicken was sold 10 rupees to voters, Election Commission raid the shops

    बकरा भात और चिकन की दावत
    वहीं 10 रुपये में चिकन बेचने वाले चिकन सेंटर के संचालक ने बताया कि इसके लिए उससे कुछ राजनीतिक दल के लोगों ने संपर्क किया था और 10 रुपये किलो चिकन बेचे जाने की बात कही थी. हालांकि चिकन जब्त करने के बाद अधिकारियों को यह समझ नहीं आया कि इसे रखा कहां जाए तो उन्होंने सभी वोटर्स का बयान लेकर इसे उन्हीं को सौंप दिया, लेकिन इतना चिकन एक साथ मिलने पर अब वोटर को भी यह समझ नहीं आ रहा कि उसे कहां रखें. बता दें छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में चुनाव जीतने के लिए लोगों को बकरा भात और चिकन की दावत आम बात की खबरें पहले भी आ चुकी हैं और इस साल भी यह क्रम हमेशा की तरह जारी है.

    ये भी देखे

    Trending news