छत्तीसगढ़ के राजस्व मंत्री की केंद्र को धमकी, नहीं खरीदी धान तो रोक देंगे कोयले की आपूर्ती

जयसिंह अग्रवाल ने केंद्र को धमकी देते हुए कहा है कि अगर केंद्र ने धान नहीं खरीदी तो वह कोयले की आपूर्ती बंद कर देंगे. केंद्र सरकार को चेताते हुए जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि, 'अगर केंद्र सरकार चावल नहीं खरीदेगी तो हम कोयले की सप्लाई रोक देंगे.'

छत्तीसगढ़ के राजस्व मंत्री की केंद्र को धमकी, नहीं खरीदी धान तो रोक देंगे कोयले की आपूर्ती
जयसिंह अग्रवाल

रायपुरः धान खरीदी को लेकर अब केंद्र और राज्य सरकार आमने-सामने आ खड़े हुए हैं. इस मामले को लेकर छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल (Jaisingh Agrawal) का बड़ा बयान सामने आया है. जयसिंह अग्रवाल ने केंद्र को धमकी देते हुए कहा है कि अगर केंद्र ने धान नहीं खरीदी तो वह कोयले की आपूर्ती बंद कर देंगे. केंद्र सरकार को चेताते हुए जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि, 'अगर केंद्र सरकार चावल नहीं खरीदेगी तो हम कोयले की सप्लाई रोक देंगे.'

बता दें कि छत्तीसगढ़ के कोरबा में देश का 11 प्रतिशत कोयला उत्पादन होता है. ऐसे में जहां एक तरफ केंद्र सरकार ने धान खरीदने से इनकार कर दिया है तो वहीं प्रदेश सरकार कोयले की आपूर्ती रोकने के नाम पर केंद्र सरकार पर धान खरीदी को लेकर दबाव बनाने की कोशिश में जुटी है. इससे पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने आर्थिक नाकेबंदी की बात कही थी तो वहीं अब जयसिंह अग्रवाल ने केंद्र सरकार को कोयले की आपूर्ती को लेकर धमकी दी है.

छत्तीसगढ़ः किसानों के लिए कर्ज लेगी सरकार! धान खरीदी के लिए बेच सकती है सरकारी बॉन्ड

वहीं केंद्र सरकार के धान खरीदने इनकार करने के बाद भी छत्तीसगढ़ सरकार (Government of Chhattisgarh) किसानों से 2500 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से धान खरीदने की तैयारी कर रही है. इसके लिए भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) सरकार अपने सरकारी बॉन्ड बेचने की तैयारी कर रही है. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को तैयारी करने के निर्देश दिए हैं. 

बढ़ते प्रदूषण को लेकर बढ़ी छत्तीसगढ़ की चिंता, राज्य में लगेंगे कम प्रदूषण फैलाने वाले उद्योग

बता दें इस साल धान खरीदी के लिए सरकार को 21 हजार करोड़ की जरूरत है, जिसके लिए वो कर्ज ले रही है. जिसमें से 15 हजार करोड़ रुपये से धान खरीदी की जाएगी और 6 हजार करोड़ रुपये से किसानों को बोनस दिया जाएगा. इसके साथ ही सरकार ने धान खरीदी से पहले मार्कफेड को बारदाना खरीदी और तैयारी करने के लिए 900 करोड़ रुपये भी दिए हैं.