close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रतलाम में चेहल्लुम की तैयारियां शुरू, यात्रियों की सुरक्षा के लिए तैनात किए गए 1500 पुलिसकर्मी

 2012 में इसी आयोजन में भगदड़ मचने से 12 लोगों की मौत हो गई थी. जिसके बाद से इस आयोजन स्थल पर व्यवस्थाओं को लेकर बड़ा परिवर्तन कर दिया गया है.

रतलाम में चेहल्लुम की तैयारियां शुरू, यात्रियों की सुरक्षा के लिए तैनात किए गए 1500 पुलिसकर्मी
कलेक्टर रुचिका चौहान ने अधिकारियों की ड्यूटी भी अलग-अलग कार्य की जवाबदेही के लिए लगा दी है.

चंद्रशेखर सोलंकी, रतलामः मध्य प्रदेश के रतलाम जिले से 45 किलोमीटर दूर हुसैन टेकरी पर 10 दिवसीय चेहल्लुम का कार्यक्रम शुरू हो गया है. मुख्य कार्यक्रम आग पर मातम का आयोजन 18 अक्टूबर की रात को होगा. आपको बता दें इस मुख्य आयोजन में लाखों की संख्या में लोग यहां आते हैं और इसके लिए प्रशासन को खासी तैयारियां करनी पड़ती है. रतलाम जिले के जावरा स्थित धार्मिक स्थल हुसैन टेकरी की ख्याति देश के कोने-कोने में ही नहीं बल्कि सात समंदर पार स्थित देशों में विख्यात है. यही वजह है कि हर साल यहां पर आयोजित होने वाले चेहल्लुम में लाखों की संख्या में जायरीन जावरा आकर आस्था का परिचय देते हैं .

बता दें कि 2012 में इसी आयोजन में भगदड़ मचने से 12 लोगों की मौत हो गई थी. जिसके बाद से इस आयोजन स्थल पर व्यवस्थाओं को लेकर बड़ा परिवर्तन कर दिया गया है और आयोजन के क्षेत्र को भी विकसित किया है. इस घटना के बाद से यहां आयोजन के दौरान प्रशासन अलर्ट भी रहता है. इस साल भी चेहल्लुम की आयोजन  की तैयारियों को लेकर जिला प्रशासन के अधिकारियों सहित कलेक्टर ने आयोजन स्थल का निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं को लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित भी किया है.

देखें LIVE TV 

सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस विभाग भी तैयारी में जुटा है. पुलिस प्रशासन यहां सुरक्षा व्यवस्था को लेकर काफी अलर्ट है. माना जा रहा है कि इस साल भी 3 लाख लोगों के यहां आने की संभावना है. इसी को मद्देनजर रखते हुए माकुल व्यवस्था की जा रही है. करीब 1500 पुलिसकर्मियों के बल इस व्यवस्था में लगाया जा रहा है. वहीं कुछ ज्यादा भीड़ वाले पॉइंट चिन्हित कर पूरे आयोजन क्षेत्र में नाइट विजन सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जाएगी.

रतलामः अवैध संबंध के शक में पति ने कर दी पत्नी की हत्या, फिर पहुंच गया थाने

इसके अलावा कलेक्टर रुचिका चौहान ने अधिकारियों की ड्यूटी भी अलग-अलग कार्य की जवाबदेही के लिए लगा दी है. वहीं इस दौरान देश के कोने-कोने से और विदेशों से आने-जाने वाले लोगों के आइडेंटी संबंध दस्तावेजों कि लगातार चैकिंग भी की जा रही है. इसके अलावा लॉज और होटल संचालकों को हर आने-जाने वाले यात्रियों के सम्बंध में जानकरी और पहचान पत्र सबंधी दस्तावेज रखने के निर्देश दे दिए गए हैं.