छत्तीसगढ़ः भिलाई में नहीं थम रहा डेंगू का कहर, 21 दिन में निगली 23 जिंदगियां

बीते 21 दिनों में भिलाई में डेंगू के चलते 23 लोगों की जान जा चुकी है. इसके साथ ही डेंगू पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 600 से ऊपर जा पहुंचा है.

छत्तीसगढ़ः भिलाई में नहीं थम रहा डेंगू का कहर, 21 दिन में निगली 23 जिंदगियां
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्लीः छत्तीसगढ़ का 'मिनी इंडिया' कहा जाने वाला भिलाई इस समय डेंगू से थर्राया हुआ है. शहर में डेंगू के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं. बीते 21 दिनों में भिलाई में डेंगू के चलते 23 लोगों की जान जा चुकी है. इसके साथ ही डेंगू पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 600 से ऊपर जा पहुंचा है. इस्पात संयंत्र में दिन डेंगू से किसी न किसी के जान जाने की खबर से पूरे शहर में खौफ छाया हुआ है. भिलाई के सभी नागरिक अपने-अपने तरीकों से इससे निजात पाने की कोशिशों में लगे हैं, लेकिन अभी तक किसी भी तरह की राहत की खबर नहीं है. भिलाई में अलग-अलग अस्पतालों में 600 से ज्यादा डेंगू पीड़ित लोग इलाज करा रहे हैं, जबकि 1000 से अधिक डेंगू संदिग्ध मरीज भी पाए गए हैं.

प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य जारी
दुर्ग जिले के अधिकारियों ने बताया कि 'प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य जारी है, लेकिन बावजूद इसके डेंगू पर नियंत्रण पाने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है.' वहीं बीते सोमवार डेंगू से पीड़ित 19 वर्षीय वैष्णव की मौत से पूरे क्षेत्र के लोगों में गुस्सा है. शहर का प्रत्येक इलाके में लोग प्रशासन को कोस रहे हैं. वहीं बीते शुक्रवार दुष्यंत नाम के व्यक्ति की डेंगू के चलते ही मृत्यु हो गई. क्षेत्र में लगातार बढ़ रहे डेंगू के प्रकोप से भिलाई नगर का हर नागरिक काफी परेशान है.

सफाई ठेका न होने के कारण गंदगी की भरमार
भिलाई में 30 जुलाई से अब तक डेंगू से 23 लोगों की मौत हो चुकी है. डेढ़ साल से सफाई ठेका न होने के कारण गंदगी की भरमार है. बारिश के बाद अब कलेक्टर दर पर सफाई कराई जा रही है. खुर्सीपार का इलाका डेंगू से सबसे ज्यादा प्रभावित है. घनी आबादी वाले इस क्षेत्र में नालियां तो हैं, लेकिन निकासी की व्यवस्था नहीं है. डेंगू के कहर के बढ़ते ही पहले 20 घंटों में डेंगू से मरने वालों में दिनेश दलाई (7), टोमेंद्र सेन (22), मीमांसा साकरे (13), प्रियंका प्रसाद (5) और शीला देवी (25) शामिल हैं. ये पांचों खुर्सीपार क्षेत्र की ही निवासी थे. 

संयंत्र प्रबंधन ने शुरू की डेंगू बचाव की कवायद
स्थानीय प्रशासन इतनी मौतों के बाद जागा है. शहर में डेंगू के लार्वा को खत्म करने वाली दवाइयों व कीटनाशकों का छिड़काव करवाया जा रहा है. भिलाई नगर निगम के महापौर देवेंद्र यादव ने कहा, "पिछले 21 दिनों से डेंगू को लेकर निगम व जिला प्रशासन को सचेत कर रहा हूं, लेकिन अफसर ध्यान नहीं दे रहे हैं." डेंगू के ज्यादा मरीज भिलाई इस्पात संयंत्र के टाउनशिप एरिया में मिले हैं. ऐसे में संयंत्र प्रबंधन ने भी डेंगू से बचाव के लिए कवायद शुरू कर दी है. लोगों को भी सावधानी बरतने के लिए कहा गया है.