close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अंबिकापुर में 48 वार्डों की बदल रही हैं सीमाएं, परिसीमन पर BJP बोली- 'मनमानी कर रही है प्रदेश सरकार'

अम्बिकापुर नगर पालिक निगम में 48 वार्ड हैं जहां परिसीमन की प्रक्रिया की जा रही है. दावा आपत्ति की तिथि 1 जुलाई के बाद समाप्त हो जाएगी.

अंबिकापुर में 48 वार्डों की बदल रही हैं सीमाएं, परिसीमन पर BJP बोली- 'मनमानी कर रही है प्रदेश सरकार'
भाजपा का आरोप है कि परिसीमन से वार्ड में रह रहे लोगों को परेशानी हो सकती है. (फोटो साभारः twitter)

(सुशील कुमार बक्सेला/अंबिकापुर) नई दिल्लीः छत्तीसगढ़ में नगरीय निकाय चुनाव के महज कुछ माह ही बचे हैं. ऐसे में अम्बिकापुर नगर निगम क्षेत्र के परिसीमन को लेकर भाजपा कांग्रेस आमने सामने दिख रही हैं. भाजपा कांग्रेस पर आरोप लगा रही है तो कांग्रेस भाजपा के किए गए गलत परिसीमन को सुधारने की बात कह रही है. अम्बिकापुर नगर पालिक निगम में 48 वार्ड हैं जहां परिसीमन की प्रक्रिया की जा रही है. दावा आपत्ति की तिथि 1 जुलाई के बाद समाप्त हो जाएगी. भाजपा आरोप लगा रही है कि नगर निगम में कांग्रेस सरकार अपने मनमाने ढंग से परिसीमन करवा रही है, जिससे वार्डों में निवास कर रहे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा. वहीं भाजपा 1 जुलाई को सरगुजा कलेक्टर से मिलकर इसे यथावत रखने की बात कहने की बात कह रही है.

वहीं भाजपा कांग्रेस पर आरोप लगा रही है, तो कांग्रेस कह रही है कि 2014 के परिसीमन में भाजपा की सरकार राज्य और निगम में थी जिसका फायदा उठाकर मनमाने ढंग से परिसीमन कराया गया था. वहीं वोटर लिस्ट को दिखाते हुए बताया कि किसी वार्ड में 22 सौ तो किसी वार्ड में 4 हजार जनसंख्या वार्डों में दर्ज है. जिसे सुधार कर एक समान जनसंख्या करने का काम किया जा रहा है.

राहुल गांधी ने मोहन मरकाम को सौंपी छत्तीसगढ़ की कमान, बनाए गए नए कांग्रेस अध्यक्ष

बहरहाल देखा जाए तो अम्बिकापुर नगर निगम की जनसंख्या लगभग एक लाख से ऊपर है और अम्बिकापुर नगर निगम के पास 48 वार्ड हैं. अब देखना होगा कि भाजपा का आरोप सही है या नगर निगम की सरकार. यह तो अब परिसीमन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही पता चल पाएगा. फिलहाल नगरी चुनाव नजदीक आते ही आरोप-प्रत्यारोप के दौर शुरू हो चुके हैं और दोनों प्रमुख दल एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं.