छत्तीसगढ़ चुनाव 2018: 'राठिया' के ईर्द-गिर्द घूमती धरमजयगढ़ की राजनीति में किसकी होगी जीत

यहां की जनता को न तो बुनियादी सुविधाएं मिल रही हैं और न ही रोजगार योजनाओं का लाभ मिल रहा है. स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति बेहद गंभीर है. 

छत्तीसगढ़ चुनाव 2018: 'राठिया' के ईर्द-गिर्द घूमती धरमजयगढ़ की राजनीति में किसकी होगी जीत
फाइल फोटो

रायगढ़ः छत्तीसगढ़ की धरमजयगढ़ विधानसभा सीट एक आदिवासी बहुल इलाका है. यहां की 40 फीसदी से भी ज्यादा की आबादी आदिवासी है. वहीं 25 फीसदी आबादी पिछड़ा वर्ग में आती है. ऐसे में विकास की राह देख रहे धरमजयगढ़ की जनता की मानें तो क्षेत्र आज भी विकास की राह देख रहा है. यहां की जनता को न तो बुनियादी सुविधाएं मिल रही हैं और न ही रोजगार योजनाओं का लाभ मिल रहा है. स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति बेहद गंभीर है. जिसके चलते धरमजयगढ़ की जनता अपने प्रतिनिधि से खासी नाराज चल रही है. ऐसे में सवाल यह है कि राठिया परिवार के इर्द-गिर्द घूमती धरमजयगढ़ की राजनीति में अब जनता जनार्दन किसे मौका देगी.

धरमजयगढ़ विधानसभा सीट
बता दें धरमजयगढ़ में भाजपा और कांग्रेस को इस बार जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस से बड़ी चुनौती मिल सकती है. कांग्रेस के लालजीत सिंह राठिया और भाजपा के ओमप्रकाश राठिया के खिलाफ जनता कांग्रेस नवल राठिया को उम्मीद्वार घोषित कर सकती है. दरअसल, धरमजयगढ़ की जनता कांग्रेस विधायक लालजीत सिंह राठिया से काफी नाराज चल रही है. जिसके चलते आशंका है कि इस बार जनता कांग्रेस का दामन छोड़ भाजपा या जनता कांग्रेस के उम्मीद्वारों को अपना नेता बना सकती है. बता दें धरमजयगढ़ एक वन बाहुल्य इलाका है. वहीं यहां हाथी कॉरीडोर भी है, ऐसे में यहां की जनता हाथियों से भी काफी परेशान है और अपनी समस्याएं हल न होने से अपने प्रतिनिधी से नाराज चल रही है.

2013 विधानसभा चुनाव नतीजे
वहीं 2013 में हुए चुनावों में कांग्रेस ने लालजीत सिंह राठिया को अपना प्रत्याशित घोषित किया. जिसके बाद लालजीत सिंह राठिया की तुलना में बीजेपी के ओमप्रकाश राठिया को मिले वोटों में 20 हजार से भी अधिक का अंतर रहा, जिसके चलते बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा, लेकिन इस बार जनता में फैले आक्रोश से बाकिफ भाजपा हर संभव कोशिश में जुटी है कि कांग्रेस को हरा एक बार फिर धरमजयगढ़ पर काबिज हो सके.

2013 छत्तीसगढ़ चुनाव नतीजे...
बता दें छत्तीसगढ़ में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं. राज्य में कुल 11 लोकसभा सीटें और 5 राज्य सभा सीटें हैं. राज्य की 90 विधानसभा सीटों में से 51 सामान्य, 10 एससी और 29 सीटें एसटी के लिए आरक्षित हैं. 2013 में हुए विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस को लगातार तीसरी बार मात देते हुए सरकार बनाई थी. 2013 में सीएम रमन सिंह की अगुवाई में हुए चुनाव में भाजपा ने कुल 49 सीटों पर जीत दर्ज कराई थी. बता दें छत्तीसगढ़ में इस बार भी कांग्रेस और भाजपा के बीच ही मुकाबला बताया जा रहा है. 2013 में भी कांग्रेस ने कुल 39 सीटों पर जीत पाई थी और 2 सीटों पर अन्य को जीत मिली थी. बता दें रमन सिंह पिछले 15 सालों से राज्य के मुख्यमंत्री हैं.