छत्तीसगढ़ चुनाव 2018: नक्सल प्रभावित बस्तर पर कांग्रेस-बीजेपी की नजर

नक्सलियों के आतंक को देखते हुए भाजपा सरकार ने वर्तमान समय में नक्सलियों के खिलाफ कई अभियान छेड़ रखे हैं. जिसके चलते कहीं न कहीं भाजपा के कई नेता नक्सलियों की हिट लिस्ट में बने हुए हैं.  

छत्तीसगढ़ चुनाव 2018: नक्सल प्रभावित बस्तर पर कांग्रेस-बीजेपी की नजर
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

बस्तरः छत्तीसगढ़ में नक्सल का गढ़ कहा जाने वाला बस्तर विधानसभा सीट पर हमेशा से ही राजनीतिज्ञों की नजर टिकी रहती है. क्योंकि यहां शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव संपन्न कराना काफी मुश्किल है. बस्तर में आए दिन नक्सली हमले और नक्सलियों द्वारा ग्रामीणों और सेना के जवानों की हत्याओं की वारदात सामने आती रहती है. ऐसे में इस सीट पर सभी की नजर बनी रहती है. बता दें 2008 में हुए विधानसभा चुनावों में यह सीट भारतीय जनता पार्टी के पास थी तो वहीं 2013 से यह सीट कांग्रेस के पास है. नक्सलियों के आतंक को देखते हुए भाजपा सरकार ने वर्तमान समय में नक्सलियों के खिलाफ कई अभियान छेड़ रखे हैं. जिसके चलते कहीं न कहीं भाजपा के कई नेता नक्सलियों की हिट लिस्ट में बने हुए हैं.

2008 विधानसभा चुनाव नतीजे
बता दें यह विधानसभा सीट एसटी वर्ग के लिए आरक्षित है. 2008 में इस सीट पर बीजेपी के सुभाऊ कश्यप ने कांग्रेस के लाकेश्वर बघेल को कुल 1 हजार से अधिक वोटों से हराया था और जीत दर्ज की थी. 2008 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी सुभाऊ कश्यप को 39,991 वोट मिले जबकि कांग्रेस प्रत्याशी लाकेश्वर बघेल को 38,790 वोट ही मिले.

2013 विधानसभा चुनाव नतीजे
जिसके बाद 2013 में हुए चुनावों में कांग्रेस ने बदला लेते हुए लाकेश्वर बघेल ने सुभाऊ कश्यप को 19,168 वोटों के बड़े अंतर से हराया था. उन्हें 2013 कि विधानसभा चुनाव में 57,942 वोट मिले. वहीं उनके विपक्षी सुभाऊ कश्यप 38,774 वोट ही मिल सके.

छत्तीसगढ़ चुनाव नतीजे...
बता दें छत्तीसगढ़ में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं. राज्य में कुल 11 लोकसभा सीटें और 5 राज्य सभा सीटें हैं. राज्य की 90 विधानसभा सीटों में से 51 सामान्य, 10 एससी और 29 सीटें एसटी के लिए आरक्षित हैं. 2013 में हुए विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस को लगातार तीसरी बार मात देते हुए सरकार बनाई थी. 2013 में सीएम रमन सिंह की अगुवाई में हुए चुनाव में भाजपा ने कुल 49 सीटों पर जीत दर्ज कराई थी. बता दें छत्तीसगढ़ में इस बार भी कांग्रेस और भाजपा के बीच ही मुकाबला बताया जा रहा है. 2013 में भी कांग्रेस ने कुल 39 सीटों पर जीत पाई थी और 2 सीटों पर अन्य को जीत मिली थी. बता दें रमन सिंह पिछले 15 सालों से राज्य के मुख्यमंत्री हैं.