नारायणपुर सीट पर जीत का चौका लगाएगी भाजपा या कांग्रेस करेगी क्लीन बोल्ड

 बता दें नारायणपुर पूर्णतः आदिवासी बहुल इलाका है और यहां धुर्वा, गौंड, मुरिया और हल्बा जाति के आदिवासी रहते हैं. इन आदिवासियों के आय का मुख्य साधन खेती है.

नारायणपुर सीट पर जीत का चौका लगाएगी भाजपा या कांग्रेस करेगी क्लीन बोल्ड
फाइल फोटो

बस्तरः छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग का नारायणपुर विधानसभा क्षेत्र प्रदेश की सबसे हाईप्रोफाइल सीट्स में से एक है. प्रदेश के स्कूली शिक्षा मंत्री केदारनाथ कश्यप नारायणपुर विधानसभा से विधायक हैं. 2008 में विधानसभा क्षेत्र परिसीमन के बाद नारायणपुर से भानपुरी के विधायक रह चुके केदार कश्यप ने 2008 के विधानसभा चुनाव में भानपुरी छोड़ नारायणपुर से चुनाव लड़ने का फैसला किया और उनका यह फैसला उनके लिए सही साबित हुआ. 2008 और 2013 में लगातार दो बार जीत हासिल करने के बाद अब तीसरी बार केदारनाथ कश्यप नारायणपुर से चुनाव लड़ने की तैयारी में जुटे, लेकिन उनकी पहुंच से दूर क्षेत्र का एक हिस्सा कहीं न कहीं उनके लिए परेशानी खड़ा करता दिखाई दे रहा है.

नारायणपुर विधानसभा सीट
बता दें नारायणपुर का एक हिस्सा अभी न सिर्फ छत्तीसगढ़ बल्कि पूरे देश के लिए अबूझ पहेली बना हुआ है. जिले के इस हिस्से तक सरकार अभी तक नहीं पहुंच पाई है, जिस वजह से इस क्षेत्र का नक्शा तक नहीं बन पाया है और यही वजह है कि इसे अबुझमाड़ भी कहा जाता है. नक्सलियों के चलते अब तक इस क्षेत्र के लिए सरकार ने विकास के रास्ते बंद कर रखे थे, लेकिन भारतीय जनता पार्टी की कुछ ही कोशिशों से पहली बार सरकार इस क्षेत्र में कदम रख सकी और क्षेत्र के लिए विकास के बंद दरवाजे खोले गए. बता दें नारायणपुर पूर्णतः आदिवासी बहुल इलाका है और यहां धुर्वा, गौंड, मुरिया और हल्बा जाति के आदिवासी रहते हैं. इन आदिवासियों के आय का मुख्य साधन खेती है.

2003 विधानसभा चुनाव नतीजे
बता दें 2003 में नारायणपुर में भाजपा प्रत्याशी विक्रम उसेंदी ने 40,504 वोटों के साथ जीत हासिल की थी. उनकी तुलना में कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम पंवार को 31,690 वोट मिले. 

2008 विधानसभा चुनाव नतीजे
वहीं 2008 में बीजेपी की ओर से केदारनाथ कश्यप ने नारायपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने का फैसला लिया और 48,459 वोटों के साथ जीत भी दर्ज कराई. वहीं केदारनाथ कश्यप की तुलना में कांग्रेस प्रत्याशी रजनूराम नेतम को 26,824 वोट ही मिल सके. 

2013 विधानसभा चुनाव नतीजे
2013 के चुनावों में भी केदारनाथ कश्यप ने 54,874 वोटों के साथ एक बार फिर जीत दर्ज की. जबकि उनकी तुलना में भाजपा के चंदन कश्यप को 42,074 वोट ही हासिल कर पाए.