पंडरिया विधानसभा सीट: 2013 की बाजी हारने के बाद वापसी की कोशिश में लगी कांग्रेस

क्षेत्र की जनता का रुझान देखा जाए तो वर्तमान विधायक मोतीराम चंद्रवंशी ने अपने साढ़े चार साल के कार्यकाल में जिस तेजी से काम किया है उससे जनता काफी खुश नजर आ रही है. 

पंडरिया विधानसभा सीट: 2013 की बाजी हारने के बाद वापसी की कोशिश में लगी कांग्रेस
फाइल फोटो

भिलाईः 2008 में परिसीमन के बाद अस्तित्व में आई पंडरिया विधानसभा सीट पर 2008 और 2013 के चुनावों में एक बार कांग्रेस तो एक बार भाजपा प्रत्याशी जीत चुके हैं. बुनियादी सुविधाओं की समस्याओं से जूझ रहे पंडरिया विधानसभा से बीजेपी के मोतीराम चंद्रवंशी विधायक हैं तो वहीं कांग्रेस पंडरिया में वापसी की तैयारियों में जुट गई है, लेकिन क्षेत्र की जनता का रुझान देखा जाए तो वर्तमान विधायक मोतीराम चंद्रवंशी ने अपने साढ़े चार साल के कार्यकाल में जिस तेजी से काम किया है उससे जनता काफी खुश नजर आ रही है. बता दें भाजपा काफी समय से पंडरिया की जनता की सेवा का मौका ढूंढ़ रही थी, ऐसे में 2013 में मिले मौके का फायदा उठाते हुए मोतीराम चंद्रवंशी ने क्षेत्र के विकास पर पूरी तरह से ध्यान दिया और क्षेत्र का विकास किया.

2008 विधानसभा चुनाव नतीजे
बता दें 2008 में पंडरिया विधानसभा सीट पर कांग्रेस उम्मीद्वार अकबर ने 72,397 वोटों के साथ जीत दर्ज की. बता दें अकबर की तुलना में भाजपा के लालजी चंद्रवासी को 70,536 वोट मिले थे. 

2013 विधानसभा चुनाव नतीजे
वहीं 2013 के विधानसभा चुनाव में यह बाजी बीजेपी के मोतीराम चंद्रवंशी के हाथ लगी और उन्होंने 81,685 वोटों के साथ पंडरिया विधानसभा सीट को अपने नाम किया. मोतीराम चंद्रवंशी की तुलना में कांग्रेस उम्मीद्वार लालजी चंद्रवंशी को 74,412 वोट ही मिल सके.

छत्तीसगढ़ राज्य
बता दें छत्तीसगढ़ में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं. राज्य में कुल 11 लोकसभा सीटें और 5 राज्य सभा सीटें हैं. राज्य की 90 विधानसभा सीटों में से 51 सामान्य, 10 एससी और 29 सीटें एसटी के लिए आरक्षित हैं. 2013 में हुए विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस को लगातार तीसरी बार मात देते हुए सरकार बनाई थी.

2013 छत्तीसगढ़ चुनाव नतीजे...
2013 में सीएम रमन सिंह की अगुवाई में हुए चुनाव में भाजपा ने कुल 49 सीटों पर जीत दर्ज कराई थी. बता दें छत्तीसगढ़ में इस बार भी कांग्रेस और भाजपा के बीच ही मुकाबला बताया जा रहा है. 2013 में भी कांग्रेस ने कुल 39 सीटों पर जीत पाई थी और 2 सीटों पर अन्य को जीत मिली थी. बता दें रमन सिंह पिछले 15 सालों से राज्य के मुख्यमंत्री हैं.