close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़ः धमतरी CM भूपेश बघेल ने लगाई चौपाल, सुनी लोगों की समस्याएं

इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री अनिला भेंड़िया भी मौजूद थीं. मुख्यमंत्री ने विद्यालय और प्रशिक्षण केन्द्र में फर्नीचर, ओपन जिम, कम्प्यूटर, आडियोमैट्री रूम सहित अन्य व्यवस्थाओं के लिए 2.62 करोड़ रूपए की स्वीकृति भी प्रदान की.

छत्तीसगढ़ः धमतरी CM भूपेश बघेल ने लगाई चौपाल, सुनी लोगों की समस्याएं
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (फाइल फोटोः twitter/@bhupeshbaghel)

रायपुरः छत्तीसगढ़ के धमतरी में सकीय श्रवण बाधितार्थ बालिका विद्यालय, छात्रावास एवं प्रशिक्षण केन्द्र के नवनिर्मित भवन का लोकार्पण में पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि दिव्यांगजनों में कोई न कोई हुनर होता है. इस हुनर को निखारने उनका यह अधिकार है. राज्य सरकार द्वारा इसमें हर संभव सहयोग दिया जाएगा ताकि वो हुनरमंद होकर आत्मनिर्भर बन सकें. इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री अनिला भेंड़िया भी मौजूद थीं. मुख्यमंत्री ने विद्यालय और प्रशिक्षण केन्द्र में फर्नीचर, ओपन जिम, कम्प्यूटर, आडियोमैट्री रूम सहित अन्य व्यवस्थाओं के लिए 2.62 करोड़ रूपए की स्वीकृति भी प्रदान की.

दरअसल, राज्य सरकार के समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित शासकीय श्रवण बाधितार्थ बालिका विद्यालय, छात्रावास एवं प्रशिक्षण केन्द्र अभी किराए के भवन में चल रहा था. इसके लिए राज्य सरकार द्वारा तीन करोड़ 30 लाख रूपए की लागत से सर्वसुविधायुक्त यह भवन बनाया गया है. यह प्रदेश के विभिन्न जिलों की 105 श्रवण बाधित दिव्यांग बालिका अध्ययनरत है. इस विद्यालय में कक्षा पहली से दसवीं तक की अध्ययन की व्यवस्था है. मुख्यमंत्री ने कहा कि बालिकाओं को पढ़ाई के साथ ही उनमें छुपी प्रतिभा को निखारने के लिए कम्प्यूटर, सिलाई, ब्यूटीपार्लर सहित अन्य व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदान किए जाएं ताकि वो आगे चलकर अपने पैरो पर खड़ी हो सकें. 

देखें लाइव टीवी

जब महाधिवक्ता कनक तिवारी ने नहीं दिया इस्तीफा, तो CM भूपेश ने कैसे कर लिया मंजूरः अमित जोगी

उन्होंने कहा कि इसके लिए जो भी बजट होगा वह राज्य सरकार द्वारा दिया जाएगा. मुख्यमंत्री ने इस मौके पर उपस्थित दिव्यांग बच्चों और वृद्धजनों को स्वयं अपने हाथों से भोजन परोसा और मिठाई खिलाई. मुख्यमंत्री ने सभी को अपनी ओर से टिफिन बॉक्स भी प्रदान किए. मुख्यमंत्री ने तृतीय लिंग समुदाय के रविशंकर नागार्ची को प्रधानमंत्री आवास की चाबी प्रदान की. साथ ही समाज कल्याण विभाग की विभिन्न योजनाओं के तहत तीन दिव्यांग दंपत्ति को विवाह प्रोत्साहन राशि, 50 मूक बधिर छात्राओं को और 10 वरिष्ठ वृद्धजनों को श्रवण यंत्र, 10 वरिष्ठ वृद्धजनों को वॉकिंग स्टिक, दस दिव्यांगजनों को मोटराईज्ड ट्रायसायकल, दस दिव्यांगजनों को ट्रायसाइकल और व्हील चेयर वितरित किया. इस अवसर पर दिव्यांग और वृद्धजनों को सम्मानित भी किया गया. 

छत्तीसगढ़ बजटः 2500 रुपये में होगी धान खरीद, 400 यूनिट तक बिजली बिल होगा आधा

वहीं उन्होंने शराब बंदी के सवाल पर करा कि जिस दिन से गांवों में दूध की नदियां बहने लगेंगी उस दिन से पूरे प्रदेश में शराबबंदी कर देंगे. उन्होंने आगे कहा कि राउत (यादव) सालों से गायों की सेवा करते आ रहे हैं. इसलिए सरकार उनके लिए भी कुछ करना चाहती है. गायों के दूध को रेडी टू ईट में शामिल करें और सरकार राउत से दूध खरीदेगी. मुख्यमंत्री ने यहां गोठान का भी लोकर्पण किया और फिर उसके बाद नीम के पेड़ के नीचे लोगों से बात की.