छत्तीसगढ़ : कांग्रेस के तीन विधायकों की सदस्यता समाप्त करने की मांग

नेता प्रतिपक्ष ने तीन कांग्रेस विधायकों अमित जोगी (मरवाही), सियाराम कौशिक (बिल्हा) और आर.के. राय (गुंडरदेही) की सदस्यता समाप्त करने की मांग की है.

छत्तीसगढ़ : कांग्रेस के तीन विधायकों की सदस्यता समाप्त करने की मांग
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली/रायपुर: छत्तीसगढ़ में चतुर्थ विधानसभा के अंतिम सत्र (मॉनसून सत्र) में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर तीन विधायकों की सदस्यता समाप्त करने की मांग की है. नेता प्रतिपक्ष ने तीन कांग्रेस विधायकों अमित जोगी (मरवाही), सियाराम कौशिक (बिल्हा) और आर.के. राय (गुंडरदेही) की सदस्यता समाप्त करने की मांग की है. टीएस सिंहदेव ने तीनों विधायकों पर दल-बदल कानून के तहत कार्रवाई करने की मांग की है. नेता प्रतिपक्ष सिंहदेव ने हवाला देते हुए कहा है कि अजीत जोगी के नई पार्टी बनाने के बाद से अमित जोगी, सियाराम कौशिक और आरके राय लगातार उस पार्टी के लिए काम कर रहे हैं. टीएस सिंहदेव ने विधानसभा अध्यक्ष को 50 पन्नों का दस्तावेज भी भेजा है. गौरतलब है कि अमित जोगी कांग्रेस से निष्काषित हैं. वहीं सियाराम कौशिक और आरके राय कांग्रेस से निलंबित हैं और खुद के निष्काषन को लगातार चुनौती देते रहे हैं.

वहीं मंगलवार को विधायक अमित जोगी ने टीएस सिंहदेव को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि बाबाजी! चुनाव कल है और आप आज दल-बदल की बात कर रहे हैं. सदस्यता खत्म करने की चिट्ठी एक-दो वर्ष पूर्व लिखी जानी चाहिए थी. चुनाव के चार महीने पहले वह भी अंतिम सत्र में चिट्ठी लिखना केवल स्वयं की विफलता की खीझ उतारना है और कुछ नहीं. जोगी ने कहा कि दरअसल यह कांग्रेस पार्टी का चुनाव पूर्व नर्वसनेस है. 50 पन्ने की चिट्ठी खीझ और बौखलाहट को दर्शाती है. पिछले दो वर्षो से कांग्रेस ने भाजपा के साथ मिलकर हर संभव प्रयास किया, तीनों विधायकों को रोकने का, लेकिन वे पूरी तरह असफल रहे. जनहित के हर मुद्दे को हम तीनों विधायकों ने जमकर उठाया. हमने सीडी की बात की और कांग्रेस केवल तीन वर्षो से सीडी बजा रही है.

उल्लेखनीय है कि नेता प्रतिपक्ष टी.एस. सिंहदेव ने विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल को इन तीनों विधायक की गतिविधि पार्टी विरोधी बताते हुए संपूर्ण दस्तावेज सौंप दिए हैं. इस मामले में अब विधानसभा अध्यक्ष को निर्णय लेना है.