close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिलासपुर में दर्दनाक हादसा, पानी से भरे गड्ढे में पलटा ट्रक, हादसे में 5 लोगों की मौत

 ट्रैक्टर में सवार मजदूर और ड्राइवर भी ट्रैक्टर के साथ गड्ढे में गिर गए और ट्रैक्टर के नीचे होने से बाहर नहीं निकल पाए, जिससे सभी की मौत हो गई.

बिलासपुर में दर्दनाक हादसा, पानी से भरे गड्ढे में पलटा ट्रक, हादसे में 5 लोगों की मौत
हादसे में चार मजदूरों और ट्रैक्टर चालक की मौत हो गई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बिलासपुरः छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में मजदूरों से भरा एक ट्रैक्टर पानी से भरे गड्ढ़े में जाकर पलट गया, जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई. मिली जानकारी के मुताबिक हादसे के दौरान ट्रैक्टर में ड्राइवर सहित चार मजदूर सवार थे. मजदूरों से भरा यह ट्रैक्टर जब हिर्री थाना क्षेत्र के गांव अटर्रा के पास पहुंचा, तभी ट्रैक्टर का बैलेंस बिगड़ गया और यह पानी से भरे एक गहरे गड्ढे में जा गिरा. वहीं ट्रैक्टर में सवार मजदूर और ड्राइवर भी ट्रैक्टर के साथ गड्ढे में गिर गए और ट्रैक्टर के नीचे होने से बाहर नहीं निकल पाए, जिससे सभी की मौत हो गई.

बता दें घटना हिर्री थाना क्षेत्र की है. जहां ग्राम पंचायत अटर्रा के आसपास बिजली तार खींचने का काम चल रहा है. ठेकेदार ने यहां पंचायत भवन को स्टोर बनाया है, जहां काम में लगे वाहनों के साथ ही मजदूरों के रहने की भी व्यवस्था की गई है. मजदूर यहां से रोज सुबह काम पर निकल जाते हैं और शाम को आकर रात में ठहरते हैं. रविवार की रात पास की साइट से काम कर चार मजदूर समेत 1 ट्रैक्टर चालक पंचायत भवन लौट रहे थे.

देखें लाइव टीवी

VIDEO: तेज रफ्तार का कार कहर, करीब 35 फीट हवा में उछलकर गिरा स्‍कूटी सवार

गांव के इस कच्चे मार्ग में अनियंत्रित होकर ट्रैक्टर पानी से भरे गड्ढे में पलट गया. इस हादसे में चालक समेत मजदूर भी ट्रैक्टर में दब गए. इस घटना के बाद पुलिस को सूचना दी गई. टीम मौके पर पहुंची और देर रात पुलिस ने आसपास के लोगों की मदद से ट्रैक्टर व मजदूरों को निकालने का काम शुरू किया. रात करीब एक बजे ट्रैक्टर को बाहर निकाला गया.

दिल्ली: रफ्तार के जुनून ने ली 2 लोगों की जान, CCTV में कैद हुआ हादसे का वीडियो

फिर मजदूरों की खोजबीन शुरू की गई. सुबह तक सभी 5 मजदूरों के शव को बाहर निकाल लिया गए. सभी मजदूर कोनी क्षेत्र के चुमकंवा के रहने वाले बताये जा रहे हैं. सभी मजदूर कोनी क्षेत्र के ग्राम चुमकंवा निवासी बताए जा रहें है. इनकी पहचान सूरज साहू, अक्षर खैरवार, राजकुमार नेताम और रामायण साहू के तौर पर हुई है.