छत्तीसगढ़: बदमाशों के हौसले बुलंद, पूर्व मंत्री के बाद अब इन्हें मिली जान से मारने की धमकी

कुरूद पुलिस ने दोनों लोगों की शिकायत पर अज्ञात कॉलरों के खिलाफ केस दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है.

छत्तीसगढ़: बदमाशों के हौसले बुलंद, पूर्व मंत्री के बाद अब इन्हें मिली जान से मारने की धमकी
मामला पूर्व मंत्री अजय चन्द्राकर से जुड़ा था तो, पुलिस ने फौरन एक्शन लिया और दुर्ग के रहने वाले जसपाल सिंह रंधावा नामक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया.

रायपुर: छत्तीसगढ़ के कुरूद विधानसभा क्षेत्र में जनप्रतिनिधि और सरकारी कर्मचारी सुरक्षित नही हैं. यहां पर एक के बाद एक लोगों को जान से मारने की धमकी दी जा रही है. पहले तो पूर्व मंत्री अजय चन्द्राकर ने विधानसभा में सवाल पूछने को लेकर एक युवक पर जान से मारने की धमकी आरोप लगाया था, जिसके बाद पूरे विधानसभा में हंगामा मच गया था. एक दिन के लिए अजय चन्द्राकर के समर्थकों ने कुरूद बंद किया था. वहीं, बीजेपी पार्षद और सरकारी कर्मचारी को जान से मारने की धमकी दी जा रही है. कुरूद पुलिस अज्ञात कॉलर के खिलाफ केस दर्ज कर तफ्तीश में जुटी है.

छत्तीसगढ़ में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि वह किसी को भी फोन उठाकर धमकी दे रहे हैं. बीते विधानसभा के दौरान पूर्व मंत्री ने ये आरोप लगाया कि किसी अज्ञात शख्स ने उसे आधी रात को फोन कर जान से मारने की धमकी दी. जिसके बाद अजय चन्द्राकर ने इसकी सूचनी डीजीपी और मुख्यमंत्री को दी. वहीं, विधानसभा में इस मुद्दे को लेकर खूब हंगामा हुआ. विधानसभा अध्यक्ष ने संसदीय कार्यमंत्री को जांच के निर्देश भी दिए.

मामला पूर्व मंत्री अजय चन्द्राकर से जुड़ा था तो, पुलिस ने फौरन एक्शन लिया और दुर्ग के रहने वाले जसपाल सिंह रंधावा नामक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया. लेकिन, फोन पर अभद्र व्यवहार और जान से मारने की धमकी देने का मामला अब तूल पकड़ने लगा है. हालांकि, पुलिस द्वारा उक्त विषय पर 151 की कार्रवाई की गई. लेकिन, यह घटना अब राजनीतिक रंग लेने लगी है. इस पूरे प्रकरण को लेकर आज एक दिवसीय कुरूद बंद करने का निर्णय लिया गया. जहां सुबह से छोटी-बड़ी दुकानों का ताला ही नहीं खुला. बीजेपी कार्यकर्ता शांतिपूर्ण तरीके से हाथ जोड़कर कुरूद बंद करने की अपील कर रहे थे. जहां पर सभी लोगों ने समर्थन दिया.

इन सबके बीच बीजेपी पार्षद और सरकारी कर्मचारी को जान से मारने की धमकी मिलने की खबर सामने आ गई. पार्षद मूलचंद सिन्हा को उनके मोबाइल पर 12 लाख रूपये इनाम मिलने की बात कहकर पंजीयन शुल्क 30 हजार रूपये खाते में जमा करने की बात कही गई. उक्त पार्षद द्वारा इनाम की राशि लेने एवं पंजीयन शुल्क जमा करने की मनाही पर अज्ञात कॉलर ने अभद्रता पूर्वक व्यवहार करते गाली गलौज कर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है. वहीं, कुरूद के तहसील कार्यालय मे पदस्थ सहायक ग्रेड 3 विजय सचदेव को जान से मारने की धमकी मिली है. 

उन्होंने बताया कि अज्ञात कॉलर ने दो दिनों के अंदर मकान में रखे सामान को खाली करने को लेकर उसे और उसके पत्नी को जान से मारने की धमकी दी है. विजय सचदेव आशंका जाहिर कर रहे कि घरेलू विवाद होने की वजह से जान से मारने की धमकी मिल रही है. पार्षद और सरकारी कर्मचारी दोनों ने ही कुरूद थाने पहुच कर अज्ञात कॉलर के खिलाफ अपनी शिकायत दर्ज करा दी है.

उधर कुरूद पुलिस ने दोनों लोगों की शिकायत पर अज्ञात कॉलरों के खिलाफ केस दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है और जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात की जा रही है. वहीं, लगातार मिल रही जान से मारने की धमकी को लेकर कांग्रेस के नेता निंदा कर रहे हैं और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की बात कर रहे हैं. छत्तीसगढ़ में इन दिनों अपराध का ग्राफ बढ़ता जा रहा है, जिसके चलते लोग अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर पा रहे हैं. लोग दहशत में हैं. साथ ही अज्ञात आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की जा रही है.