CG:पेंड्रा और धमतरी में गरीबों की मदद के लिए सामने आए अलग-अलग संगठन के लोग

लॉकडाउन की वजह से कई लोग अपना पेट भरने के लिए दाने-दाने को मोहताज हो गए थे. ऐसी विकट समस्या पेंड्रा और धमतरी में देखने को मिली थी. जिसके बाद सामाजिक संगठनों ने उनकी मदद के लिए अपने हाथ आगे बढ़ाए.

CG:पेंड्रा और धमतरी में गरीबों की मदद के लिए सामने आए अलग-अलग संगठन के लोग

पेंड्रा/धमतरी: कोरोना वायरस के संकट से देशव्यापी लॉकडाउन से रोजाना कमाकर खाने वालों और अति गरीबों की जान पर बन आई थी. कई लोग अपना पेट भरने के लिए दाने-दाने को मोहताज हो गए थे. ऐसी विकट समस्या पेंड्रा और धमतरी में देखने को मिली थी. जिसके बाद सामाजिक संगठनों ने उनकी मदद के लिए अपने हाथ आगे बढ़ाए.
पेंड्रा के कुछ युवकों ने एक संगठन बनाया. इसके बाद सभी लोग शहर के दान-दाताओं से राशन और जरूरत का सामान एकट्ठा कर गरीबों तक पहुंचा रहे हैं. हालांकि लॉकडाउन के पहले तक यह लोग पेंड्रा नगर पंचायत भवन के सामने पत्तल बिछाकर ऐसे लोगों को सुबह 8:00 से 11:00 तक भोजन कराते थे. कोरोना महामारी के खतरे को देखते हुए प्रशासन ने जब सार्वजनिक रूप से भोजन कराने से मना कर दिया तो संगठन के लोगों ने भोजन सामग्री का राशन पैक कर गरीब परिवारों के घर पहुंचाने का निर्णय लिया. हर पैकेट में चावल, दाल, आलू,प्याज, तेल, मसाला नमक जैसी सामग्री रखी जाती हैं. नगर पंचायत और उसके आसपास के क्षेत्र में ऐसे 70 से 80 परिवार चिंहित कर मदद दी जा रही है. 

रायपुर में एक और Corona पॉजिटिव की पुष्टि, छत्तीसगढ़ में संख्या पहुंची 7

धमतरी में 24 घंटे में जुटा लिया 25 लाख से ज्यादा का दान
कुछ इसी तरह की मदद धमतरी के लोग भी कर रहे हैं. लोगों के साथ कलेक्टर रजत बंसल भी सीधे सहयोग की मांग लोगों कर रहे हैं. उन्होंने लोगों से दान की अपील कर 24 घंटे के भीतर ही 11.58 लाख नकद और 15 लाख की राहत सामग्री एकट्ठा कर ली है. 
रजत बंसल ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशानुसार सोशल मीडिया के जरिए जिलावासियों से निर्धन परिवारों की मदद के लिए यथासंभव खाद्यान्न सामग्री, राशि और वस्तुदान की अपील की थी. इस सम्पूर्ण प्रक्रिया में पारदर्शिता आए, इसके लिए कलेक्टर के निर्देश पर एक लिंक जारी किया गया, जिसमें दानदाताओं के नाम, पते, संस्था का नाम, राशि या सामग्री का विवरण आदि का ऑनलाइन रिकॉर्ड रखा जा सके. 
24 घंटे के भीतर ही शहर की 92 संस्थाओं, संगठनों, क्लबों और व्यक्तिगत दानदाताओं ने निचले तबके को राहत पहुंचाने दिल खोलकर दानराशि और राहत सामग्री दान की.
(इनपुट- पेंड्रा-दुर्गेश सिंह बिसेन/धमतरी-देवेन्द्र मिश्रा)