close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़ सरकार का फरमान, ट्रैफिक नियम तोड़े तो पुलिसकर्मियों को मिलेगी दोगुनी सजा

नए नियमों के अनुसार ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर वाहन चालकों से कई गुना ज्यादा जुर्माना वसूल करने का प्रावधान है.

छत्तीसगढ़ सरकार का फरमान, ट्रैफिक नियम तोड़े तो पुलिसकर्मियों को मिलेगी दोगुनी सजा
(सांकेतिक तस्वीर)

रायपुर: नए मोटर व्हीकल एक्ट के जुर्माने को लेकर फिलहाल राज्य सरकारें अपने स्तर पर मंथन कर रही हैं. गुजरात के बाद पंश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र ने पहले ही इस एक्ट के जुर्माने को कम करने का ऐलान किया है, जिसके बाद छत्तीसगढ़ में भी इसे लागू करने को लेकर अध्ययन किया जा रहा है, लेकिन जनता पर लागू होने से पहले पुलिस ने अपने लिए इसे लागू कर लिया है. छत्तीसगढ़ में ट्रैफिक के नियमों को तोड़ने वाले पुलिसकर्मियों से दोगुना जुर्माना वसूला जाएगा. पुलिस विशेष महानिदेशक आर. के. विज ने एक आदेश जारी कर कहा है कि अगर पुलिसकर्मी संशोधित मोटरयान नियमों का उल्लंघन करते हैं तो उनके विरुद्ध नियमों के अनुसार कार्रवाही करते हुए अनुशासनहीनता की भी कार्रवाही की जाएगी.

विज ने आदेश में कहा है कि जिस भी अधिकारी व कर्मचारी पर यातायात नियमों का पालन सुनिश्चित कराने की जिम्मेदारी है, वह खुद इन नियमों की अवहेलना करता पाया गया तो उसके खिलाफ नए मोटर व्हीकल अधिनियम के तय जुर्माने से दोगुनी राशि वसूली जाएगी.

ज्ञात हो कि नए नियमों के अनुसार ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर वाहन चालकों से कई गुना ज्यादा जुर्माना वसूल करने का प्रावधान है. अगर कोई नाबालिग वाहन चलाते समय पकड़ा गया तो 25 हजार रुपये का जुर्माना और गाड़ी मालिक को तीन साल तक की सजा होगी. साथ ही उस वाहन का रजिस्ट्रेशन भी रद्द कर दिया जाएगा. पहले नाबालिग के वाहन चलाने पर कोई जुर्माना नहीं था.

इसके अलावा इमरजेंसी वाहन को रास्ता न देने पर भी अब तक कोई जुर्माना नहीं था, लेकिन ऐसे वाहन को रास्ता न देने पर अब 10 हजार रुपए का जुर्माना भरना होगा. गाड़ी चलाते समय मोबाइल से बातचीत करने पर जुर्माना एक हजार रुपये से बढ़ाकर पांच हजार रुपये कर दिया गया है.