छत्तीसगढ़ राज्यसभा चुनाव: वोटिंग का बहिष्कार करने वाले विधायक हो सकते हैं निष्कासित

विधायक सियाराम कौशिक और आरके राय ने अजीत जोगी पर की गई टिप्पणी को लेकर पीएल पुनिया से माफी की मांग की थी. पीएल पुनिया के माफी नहीं मांगने पर उन्होंने चुनाव का बहिष्कार किया. 

छत्तीसगढ़ राज्यसभा चुनाव: वोटिंग का बहिष्कार करने वाले विधायक हो सकते हैं निष्कासित
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: राज्यसभा की 58 सीटों के लिए 23 मार्च (शुक्रवार) को चुनाव हुए. छत्तीसगढ़ में राज्यसभा चुनाव के लिए एक सीट पर वोटिंग हुई, जिसमें बीजेपी की सरोज पांडे की जीत हुई. उन्हें 51 वोट मिले हैं. सूत्रों के मुताबिक, राज्यसभा चुनाव में वोटिंग का बहिष्कार करने दो विधायक सियाराम कौशिक और आरके राय को पार्टी से निष्कासित किया जा सकता है.
दरअसल छत्तीसगढ़ विधानसभा में राज्यसभा चुनाव के लिए होने वाली वोटिंग से ठीक पहले, दोनों ही विधायकों ने अजीत जोगी पर की गई टिप्पणी को लेकर पीएल पुनिया से माफी की मांग की थी. पीएल पुनिया के माफी नहीं मांगने पर उन्होंने चुनाव का बहिष्कार किया. आपको बता दें, कि कुछ दिन पहले छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रभारी, पीएल पुनिया ने अजीत जोगी को 'पार्टी का जयचंद' बताया था.

दोनों विधायकों को पार्टी कर सकती है निष्कासित
यूत्रों के मुताबिक, राज्यसभा चुनाव में वोटिंग का बहिष्कार करने पर विधायक सियाराम कौशिक और आरके राय को पार्टी से निष्कासित कर सकती है. इस मामले में छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने पत्र लिखकर पार्टी आलाकमान से कार्रवाई की सिफारिश की थी. इस मामले में शनिवार (24 मार्च) को बैठक हो सकती है. इस बैठक में दोनों विधायकों को पार्टी से निष्कासित करने का फैसला लिया जा सकता है. 

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ राज्यसभा चुनाव: बीजेपी प्रत्याशी सरोज पांडे की हुई जीत

आखिरी समय पर विधायकों ने दी चेतावनी
जानकारी के मुताबिक, राज्यसभा चुनाव से ठीक पहले विधायक सियाराम कौशिक और आरके राय ने प्रदेश कांग्रेस प्रभारी से अपने बयान पर माफी मांगने को कहा. दोनों विधायकों ने ये चेतावनी दी थी, कि अगर 3.30 बजे तक पुनिया माफी मांग लेते हैं, तो वो राज्यसभा सदस्य के लिए अपने मत देंगे और अगर माफी नहीं मांगी गई तो चुनाव का बहिष्कार करेंगे. 

बीजेपी को मिले 51 वोट 
बीजेपी के छत्तीसगढ़ में 49 विधायक हैं. बीजेपी को निर्दलीय विधायक विमल चोपड़ा का भी समर्थन प्राप्त था. अब कांग्रेस के लिए हैरान करने वाली बात ये है कि बीजेपी को 51वां वोट किस विधायक ने दिया. आपको बता दें कि कांग्रेस के छत्तीसगढ़ में 39 विधायक हैं. कांग्रेस ने लेखराम साहू को राज्यसभा सदस्य के लिए खड़ा किया था. उन्हें 36 वोट मिले हैं. 

पीएल पुनिया ने क्या दिया था बयान
कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने कुछ दिन पहले पूर्व मुख्यमंत्री रहे अजीत योगी को पार्टी का जयचंद बताया था. उन्होंने कहा था, 'पहले कुछ लोग ऐसे थे, जो पार्टी में रहकर पार्टी के खिलाफ काम करते थे. अब पार्टी में कोई जयचंद नहीं हैं. बीजेपी को जिताने का काम करने वाले जयचंद पार्टी से विदा हो चुके हैं'. पुनिया के इस बयान से ही दोनो विधायक नाराज था. उन्होंने पुनिया के इस बयान को छत्तीसगढ़ के लोगों का अपमान करार दिया.