Alert: ओमिक्रॉन के खतरे के बीच विदेश से छत्तीसगढ़ लौटे 20 यात्री लापता, नहीं हो पा रही ट्रैसिंग
X

Alert: ओमिक्रॉन के खतरे के बीच विदेश से छत्तीसगढ़ लौटे 20 यात्री लापता, नहीं हो पा रही ट्रैसिंग

कोरोना के नए वैरिएंट सामने आने के बाद जहां स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड का दावा तो कर रहा है, लेकिन विदेश से छत्तीसगढ़ वापस लौटे 20 यात्री लापता बताए जा रहे हैं, जिनकी अब तक ट्रैसिंग भी नहीं हो पाई है. 

Alert: ओमिक्रॉन के खतरे के बीच विदेश से छत्तीसगढ़ लौटे 20 यात्री लापता, नहीं हो पा रही ट्रैसिंग

चुन्नीलाल देवागन/रायपुरः कोरोना का नए वैरिएंट धीरे-धीरे दुनिया के कई देशों में पहुंच चुका है, भारत में भी इस वैरिएंट के दो मरीज मिले हैं. जिससे देशभर में अलर्ट जारी कर दिया गया है. छत्तीसगढ़ में भी कोरोना को लेकर अलर्ट जारी किया गया है, लेकिन चिंता की बात यह है कि विदेश से लौटे कुछ मरीजों की ट्रैसिंग नहीं हो पाई है, जिससे स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. फिलहाल प्रशासन इन लोगों की जांच में जुट गया है. 

कोरोना के नए वैरिएंट सामने आने के बाद जहां स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड का दावा तो कर रही है. लेकिन विदेशों से पहुंचने वाले यात्रियों की जांच को लेकर अब तक स्वास्थ्य विभाग गंभीर नहीं हुआ है. दरअसल, रायपुर के स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट पर स्वास्थ्य विभाग ने आरटीपीसीआर जांच के लिए 4 यूनिट लगाई है. लेकिन शायद यहां ठीक से जांच नहीं हो पा रही है. स्वास्थ्य विभाग की माने तो विदेशों से आने वाले यात्रियों की जांच इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर की जाती है. जिसकी वजह से रायपुर एयरपोर्ट पर कोई जांच नहीं की जा रही है. यात्रियों को 7 दिन क्वारंटाइन रहने की हिदायत दी जा रही है. लेकिन कई यात्रियों को ट्रेस नहीं किया जा सका है. 

20 से ज्यादा यात्रियों को नहीं किया गया ट्रैस 
वहीं स्वास्थ्य विभाग ने विदेशों से लौटे 76 यात्रियों में से 56 यात्रियों को ही ट्रैस कर पाई है. बाकि यात्रियों को अब तक स्वास्थ्य विभाग ट्रैस करने में विफल साबित हुआ है. जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जानकारी पुलिस विभाग को दी है. अब पुलिस विभाग और स्वास्थ्य विभाग इन यात्रियों की तलाश में जुट गया है. बताया जा रहा ये सभी यात्री विदेश से रायपुर पहुंचे थे. बड़ा सवाल यह है कि इन यात्रियों का फोन बंद आ रहा है. लगातार एएनएम द्वारा उन्हें ट्रैक करने की कोशिश की जा रही है. लेकिन उनका पता नहीं चल पा रहा है.

वहीं स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि विदेशों से लौटे लोग जिस एरिया में क्वारंटाइन हैं वहां की एएनएम को नजर रखने का निर्देश दिया गया है. एएनएम कभी भी घर जाकर निरीक्षण कर सकता है. अगर कोई घूमता हुआ पाया गया, तो उन पर कार्रवाई की जाएगी. हालांकि कुछ लोग अभी भी लापरवाही बरत रहे हैं. विदेशों से लगभग 76 यात्री रायपुर लौटे हैं, जिसमें से 19 यात्री लापता है. 

7 दिन क्वारंटाइन रहने के दिए हैं निर्देश 
दरअसल, विदेश से लौटने वाले यात्रियों को 7 दिन क्वारंटाइन रहने के निर्देश हैं, सभी यात्रियों को कोरोना गाइडलाइन के अनुसार क्वारंटाइन किया जा रहा है. जिन यात्रियों को 7 दिन क्वॉरेंटाइन किया गया है, आठवें दिन उनका दोबारा आरटीपीसीआर टेस्ट किया जाएगा. अगर वह पॉजिटिव पाए जाते हैं तो दोबारा उनको 7 दिन के लिए क्वारंटाइन कर इलाज जारी रखा जाएगा. 

उल्लंघन करने पर होगी कार्रवाई 
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि विदेशों से लौटने वाले लोगों को खुद सामने आकर अपनी जांच करानी चाहिए और पर क्वारंटाइन रहना चाहिए. अगर कोई यात्री गलत नंबर या फोन बंद रखता है तो पुलिस की मदद से उनकी तलाश की जाएगी. अगर क्वॉरेंटाइन पीरियड में वह बाहर घूमते पाए गए तो उन पर सख्त कार्रवाई भी की जाएगी.

ये भी पढ़ेंः कोविड में खर्चे की परेशानी भूल जाइए! जानिए क्या है 'कोविड कवच'

WATCH LIVE TV

Trending news