CM कमलनाथ ने जन समस्याओं के समाधान के लिए कमिश्नर और कलेक्टरों को दिए ये सख्त निर्देश

मख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश में माफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए.

CM कमलनाथ ने जन समस्याओं के समाधान के लिए कमिश्नर और कलेक्टरों को दिए ये सख्त निर्देश
( फाइल फोटो)

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जन अधिकार कार्यक्रम में कमिश्नर और कलेक्टरों को सख्त निर्देश जारी किए. उन्होंने कहा कि प्रदेश में माफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए. साथ ही जनता की समस्या का भी तुरंत समाधान निकाला जाए.

जन अधिकार कार्यक्रम मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि माफिया के विरुद्ध सख्त से सख्त कदम उठाएं, लेकिन माफिया पर कार्रवाई करने के नाम पर नगर निगमों, नगर पालिकाओं के कानूनों का उल्लंघन करने वालों पर कानून के अनुसार सामान्य प्रक्रिया में कार्रवाई हो. उन्होंने कहा कि कानून का उल्लंघन करने वाले संगठित माफिया नहीं हैं, माफिया में पैसा वसूलने वाले, संगठित होकर अपराध करने वाले आते हैं. इसी के साथ सीएम कमलनाथ ने कार्यक्रम में कई और महत्वपूर्ण मसलों पर भी अधिकारियों को आदेश दिए.  

सीएम कमलनाथ की बड़ी बातें-
शासकीय उचित मूल्य की दुकानों पर औसत गुणवत्ता से कम के अनाज वितरण की शिकायतों पर ध्यान दें.

ऐसे सभी पात्र किसानों की सूची बनाए जो फसल कर्ज माफी के पात्र हैं लेकिन समय पर कर्जा माफी फार्म नहीं भर पाये.

शुद्ध के लिए युद्ध अभियान को जारी रखते हुए दवाइयों की शुद्धता पर भी ध्यान दिया जाए.

गड़बड़ी करने वाली गृह निर्माण समितियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए.

पूरे प्रदेश में एक अभियान चलाकर यह सुनिश्चित किया जाए कि जिन्हें पट्टा मिला है उनके पास उस भूमि का कब्जा भी हो.

आपकी सरकार-आपके द्वारा कार्यक्रम के तहत प्राप्त शिकायतों का मौके पर ही समाधान हो.

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने विनोद कुमार को डेयरी खोलने के लिए ऋण लेने के 6 साल बाद भी सब्सिडी ना मिलने के मामले पर जांच के निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री ने नीमच जिले के ग्राम दोपल खेड़ा के किसान अनिल सिंह जाट की शिकायत पर खेतों के पास चल रहे क्रेसर को बंद करने के निर्देश दिए.

शिकायतों के समाधान में प्रदेश के पांच जिले उज्जैन, टीकमगढ़, रतलाम, सिंगरौली और मंडला सबसे आगे.