पीएम आवास योजना के बहाने जनता को साधने में जुटे सीएम शिवराज, 1.50 लाख मकानों में होगा गृहप्रवेश

मध्य प्रदेश में 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर कांग्रेस और बीजेपी जनता को लुभाने में जुटे हैं. शिवराज सरकार 12 सितंबर को पीएम आवास गृह प्रवेश कार्यक्रम का आयोजन करने जा रही है. जिसके मद्देनजर शनिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने आवास पर सभी मंत्रियों के साथ बैठक की.

पीएम आवास योजना के बहाने जनता को साधने में जुटे सीएम शिवराज, 1.50 लाख मकानों में होगा गृहप्रवेश
फाइल फोटो

भोपाल: मध्य प्रदेश में 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर कांग्रेस और बीजेपी जनता को लुभाने में जुटे हैं. शिवराज सरकार 12 सितंबर को पीएम आवास गृह प्रवेश कार्यक्रम का आयोजन करने जा रही है. जिसके मद्देनजर शनिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने आवास पर सभी मंत्रियों के साथ बैठक की. जानकारी के मुताबिक इस दौरान आत्मनिर्भर भारत, पीएम आवास स्कीम, स्ट्रीट वेंडर स्कीम और राशन वितरण पर चर्चा की गई. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सभी मंत्रियों को जनता से जुड़े कार्यक्रम आयोजित करने की जिम्मेदारी दी. 
 
सूक्ष्म, मध्यम और लघु उद्योग मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा ने बताया कि सीएम शिवराज सिंह ने 12 सितंबर को पीएम आवास गृह प्रवेश कार्यक्रम की पर्याप्त तैयारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. वहीं इस बैठक से पहले खुद सीएम शिवराज ने कहा था कि 12 सितंबर को पीएम आवास के डेढ़ लाख मकानों में गृह प्रवेश होगा. सुबह 11 बजे प्रधानमंत्री आवास योजना में डेढ़ लाख मकानों का लोकार्पण किया जाएगा. पीएम मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिये लाभान्वितों के साथ जुड़ेंगे. जिला, जनपद और ग्राम पंचायतों के प्रतिनिधि और हितग्राही भी कार्यक्रम से जुड़ेंगे.

ये भी पढ़ें : सिंधिया समर्थकों के सवाल पर किनारा कर गए केंद्रीय मंत्री तोमर, नहीं बताया चुनाव से पहले क्यों बनाया मंत्री?

मुख्यमंत्री निवास में बैठक के दौरान तुलसीराम सिलावट, विजय शाह, भूपेन्द्र सिंह, कमल पटेल, एंदल सिंह कंसाना, गोविंद सिंह, बृजेन्द्र प्रताप सिंह, विश्वास सारंग, इमरती देवी, महेन्द्र सिसोदिया, प्रद्युम्न सिंह तोमर, प्रेम सिंह पटेल, ओमप्रकाश सकलेचा, उषा ठाकुर, अरविंद भदौरिया, डॉ. मोहन यादव, हरदीप सिंह डंग , राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, इंदर सिंह परमार, राम खेलावन पटेल, रामकिशोर कांवरे, गिर्राज डंडौतिया, सुरेश धाकड़ मौजूद थे. 

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण (PMAY-G) या प्रधान मंत्री ग्रामीण आवास योजना पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा अपने पिछले कार्यकाल में शुरू की गई थी. यह केंद्र सरकार द्वार चलाई जाने वाली योजना है, जिसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों में 2022 तक ज्यादा से ज्यादा परिवारों को पक्का मकान उपलब्ध कराने का लक्ष्य है. इस योजना के तहत सरकार बिजली की आपूर्ति और स्वच्छता जैसी सभी बुनियादी सुविधाओं की विशेषता वाले पक्के घरों के निर्माण के लिए पैसे की सहायता प्रदान करती है. वे सभी परिवार जिनके पास घर नहीं है या वर्तमान में भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में कच्चे या जर्जर घरों में रह रहे हैं, वे PMAY-G के लिए आवेदन कर सकते हैं.

WATCH LIVE TV: