close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MP: मुख्य सचिव मोहंती का बड़ा बयान, कहा- किसानों को राहत देने के लिए बढ़ाया पेट्रोल-डीजल पर VAT

मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने बताया कि इस बार मेग्निफिशेंट मध्यप्रदेश कार्यक्रम तीन दिन की जगह केवल एक दिन 18 अक्टूबर को ही किया जाएगा.

MP: मुख्य सचिव मोहंती का बड़ा बयान, कहा- किसानों को राहत देने के लिए बढ़ाया पेट्रोल-डीजल पर VAT
बता दें कि वर्ष 2016 में हुई समिट दो दिन (22-23 अक्टूबर) चली थी. लेकिन, इस बार एक ही दिन मुख्य आयोजन रखा गया है.

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर में 18 अक्टूबर को होने वाले मेग्निफिशेंट मध्यप्रदेश (Magnificent Madhya Pradesh) कार्यक्रम की समीक्षा करने मुख्य सचिव एसआर मोहंती (SR Mohanty) ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर पहुंचे. इस दौरान मीडिया से बात करते हुए मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने मध्यप्रदेश में पेट्रोल और डीजल पर बढ़ाए गए वैट को लेकर कहा कि यह बढ़ोत्तरी अस्थायी रूप से की गई है. आने वाले वक्त में परिस्थिति के हिसाब से इसे हटाया भी जा सकता है. उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में हुई अतिवृष्टि के चलते किसानों को काफी नुकसान हुआ है. किसानों को राहत देने के लिए बड़ी राशि की जरूरत है. इसी के चलते पेट्रोल और डीजल में वैट बढ़ाया गया है. 

मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने इस दौरान अधिकारियों के साथ बैठक भी की. वहीं, बैठक में सीएम कमलनाथ ने पुलिस प्रशासन सहित जिला प्रशासन व अन्य विभाग को ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के संदर्भ में उचित दिशा निर्देश भी दिए. इसके साथ ही उन्होंने कार्यक्रम स्थल पर तैयारियों का जायज़ा लिया. एसआर मोहंती के साथ प्रमुख सचिव राजेश राजोरा और संजय शुक्ला भी मौजूद रहे. मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने बताया कि इस बार मेग्निफिशेंट मध्यप्रदेश कार्यक्रम तीन दिन की जगह केवल एक दिन 18 अक्टूबर को ही किया जाएगा. इसमें 500 से अधिक प्रमुख नामी कॉर्पोरेट हस्तियां इंदौर में शिरकत करेंगी. हर सेक्टर के लिए अलग-अलग नीति होगी. 17 और 18 अक्टूबर को यह आयोजन होगा. वहीं, 18 अक्टूबर को 8 अलग-अलग सेशन में चर्चा रखी गई है.

बता दें कि वर्ष 2016 में हुई समिट दो दिन (22-23 अक्टूबर) चली थी. लेकिन, इस बार एक ही दिन मुख्य आयोजन रखा गया है. मुख्यमंत्री कमलनाथ इस बार ठोस नतीजों के लिए समिट को बदले रूप में कर रहे हैं. जो कंपनियां वास्तव में प्रदेश में निवेश करने की इच्छुक हैं, उन कंपनियों को शॉर्ट लिस्ट किया है. ऐसी कंपनियों को समिट का न्योता भेजा गया है. लघु-मध्यम उद्योगों के लिए अलग से कोई दिन नहीं रखा गया है. सीएम एक ही दिन में कंपनियों के प्रमुखों से वन-टू-वन चर्चा कर निवेश की घोषणा करेंगे. बीती समिट में 1800 से अधिक प्रतिनिधि शामिल हुए थे और साढ़े पांच लाख करोड़ से अधिक के इंटेंशन टू इन्वेस्टमेंट आए थे.