close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ग्वालियर: दिवाली से पहले 1800 सफाईकर्मियों ने की हड़ताल, बोले- मांगें मानों नहीं तो...

ग्वालियर के बाल भवन मे चल रहे शहर सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के शुभारम्भ के दौरान बड़ी संख्या मे नगर निगम के आउटसोर्स सफाई कर्मचारी पहुंचे.

ग्वालियर: दिवाली से पहले 1800 सफाईकर्मियों ने की हड़ताल, बोले- मांगें मानों नहीं तो...
मामले को लेकर नगर निगम कमिश्नर संदीप माकीन ने कर्मचारियों को अपने स्तर पर समाझाने का प्रयास किया.

कर्ण मिश्र/ग्वालियर: नगर निगम ग्वालियर मे आउटसोर्स के सफाई कर्मचारी बुधवार से हड़ताल पर चले गए हैं. गांधी जयंती पर हड़ताल पर गए 1800 सफाई कर्मचारियों का कहना है कि उनको ठेकेदार द्वारा पांच से छह माह के अंतराल मे वेतन दिया जाता है, जिसके कारण उनको घर तक चलाना मुश्किल हो गया है. अपनी मांगों को लेकर कर्मचारियों ने कमलनाथ सरकार के मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का भी घेराव किया. कर्मचारियो का कहना है कि अगर उनकी मांगे नही मानी गई तो, वे अनिश्चितकालीन हड़ताल भी कर सकते हैं.

ग्वालियर के बाल भवन मे चल रहे शहर सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के शुभारम्भ के दौरान बड़ी संख्या मे नगर निगम के आउटसोर्स सफाई कर्मचारी पहुंचे. इसके बाद उन्होंने आयोजन स्थल के बाहर जमकर नारेबाजी की. इन कर्मचारियो का कहना है कि उन्हें ठेका प्रथा के तहत नगर निगम मे सफाई कर्मचारी के तौर पर रखा गया है. लेकिन, न तो नगर निगम उनको अपना कर्मचारी मानता है और न ही उनको कोई सुविधा दी जाती है. इतना ही नही ठेकेदार द्वारा उनको पांच से छह माह में एक माह का वेतन दिया जाता है, जिससे घर चलाने मे मुश्किल हो रही है. यही कारण है कि इन 1800 कर्मचारियों ने आज से हड़ताल शुरु कर दी है. बुधवार को शहर में कचरा नहीं उठाया गया और न ही कोई सफाई की गई.

आयोजन स्थल से जब मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर और कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गुजरे तो, इन कर्मचारियों ने उनका भी घेराव कर दिया. जिस पर जनप्रतिनिधियों ने आश्वासन दिया कि वो उनकी मांगों को लेकर निगम अधिकारियों से चर्चा करेंगे और पांच सदस्यीय समिति का गठन किया जाएगा. जो ठेकेदार के अंतर्गत काम कर रहे कर्मचारियों के हितों की समीक्षा करेंगे.

मामले को लेकर नगर निगम कमिश्नर संदीप माकीन ने कर्मचारियों को अपने स्तर पर समाझाने का प्रयास किया. लेकिन कर्मचारी किसी भी तरह से अपनी हड़ताल खत्म करने के लिए तैयार नही हैं. कमिश्नर का कहना है कि वो कर्मचारियों को मना लेंगे. बहरहाल इसी माह मे दिवाली आने वाली है. ऐसे में लोग अपने घरों की सफाई का काम शुरु कर चुके हैं. इसमें बड़ी मात्रा में कचरा निकलकर सामने आता है. ऐसे में अगर सफाई कर्मचारियों ने अपनी हड़ताल खत्म नहीं की तो, आने वाले समय में सफाई को लेकर बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है.