CM बघेल ने केंद्रीय कोयला मंत्री से की मुलाकात, मिल गई इस बड़ी मांग पर मंजूरी

राज्य और केंद्र सरकार के बीच इसपर सहमति बन गई है. कोल ब्लॉक की बड़ी मांग को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है. अब हसदेव अरण्य क्षेत्र के 5 कोल ब्लॉक की नीलामी नहीं की जाएगी. उसे रिप्लेस कर 3 नए कोल ब्लॉक ऑक्शन में शामिल किए जाएंगे. 

CM बघेल ने केंद्रीय कोयला मंत्री से की मुलाकात, मिल गई इस बड़ी मांग पर मंजूरी
फाइल फोटो

सत्य प्रकाश/रायपुर: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने आज सीएम हाउस में केंद्रीय कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी के साथ मुलाकात की. इस मुलाकात में दोनों के बीच कोल ब्लॉक आवंटन सहित विभिन मुद्दों पर चर्चा की गई. जिसके बाद राज्य और केंद्र सरकार के बीच इसपर सहमति बन गई है.

कोल ब्लॉक की बड़ी मांग को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है. अब हसदेव अरण्य क्षेत्र के 5 कोल ब्लॉक की नीलामी नहीं की जाएगी. उसे रिप्लेस कर 3 नए कोल ब्लॉक ऑक्शन में शामिल किए जाएंगे. 

सीएम के साथ बैठक के बाद केंद्रीय कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. जिसमें जोशी ने कहा, "छत्तीसगढ़ में कमर्शियल माइनिंग के लिए 9 कोल ब्लॉक को ऑक्शन में शामिल करने के लिए चिन्हित किया गया था. राज्य सरकार ने 5 कोल ब्लॉक में खनन को लेकर आपत्ति जाहिर की थी. केंद्र सरकार ने राज्य सरकार की मांग मान ली है. 5 कोल ब्लॉक रिप्लेस किया जाएगा. 5 के बदले 3 नए कोल ब्लॉक को कमर्शियल माइनिंग के लिए राज्य सरकार ने सहमति दी है.''

ये भी पढ़ें-MP:जेल में बंद कैदियों के लिए बड़ी सौगात, महीनों बाद कर सकेंगे परिजनों  से ई-मुलाकात

बता दें कि हसदेव अरण्य क्षेत्र वन्य जीव, विशेषकर हाथी प्रभावित क्षेत्र है. साथ ही वनों से परिपूर्ण है. ऐसे में राज्य सरकार सहित कई सामाजिक संगठन इन क्षेत्रों में स्थित 5 कोल ब्लॉक में कमर्शियल माइनिंग के लिए केंद्र द्वारा ऑक्शन में शामिल करने पर आपत्ति जाहिर की थी. 

राज्य सरकार की आपत्तियों को लेकर राज्य के वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने केंद्रीय कोयला मंत्री को पत्र भी लिखा था. इस मसले पर राज्य और केंद्र के बीच तकरार वाली स्थिति थी. 

Watch LIVE TV-