फ्लोर टेस्ट को लेकर सस्पेंस के बीच राज्यपाल से मिले कमलनाथ, कहा- बहुमत में है सरकार

सोमवार को दिन भर चले सियासी ड्रामे के बाद शाम को मुख्यमंत्री कमलनाथ राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात करने पहुंचे.

फ्लोर टेस्ट को लेकर सस्पेंस के बीच राज्यपाल से मिले कमलनाथ, कहा- बहुमत में है सरकार

भोपाल: मध्य प्रदेश में 10 दिन से जारी सियासी फिल्म का क्लाइमेक्स खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है बल्कि वक्त के साथ सस्पेंस और बढ़ता जा रहा है. सोमवार को दिन भर चले सियासी ड्रामे के बाद शाम को मुख्यमंत्री कमलनाथ राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात करने पहुंचे. फ्लोर टेस्ट को लेकर जारी सस्पेंस पर कमलनाथ ने मीडिया से चर्चा में कहा कि संविधान के दायरे व नियम प्रक्रिया के तहत हर चीज में राजी हैं. कमलनाथ ने दावा किया कि उनके पास बहुमत है और वो उसे साबित भी करेंगे.

सुप्रीम कोर्ट में बीजेपी की याचिका पर प्रतिक्रिया देते हुए कमलनाथ ने कहा कि न्यायालय पर पूरा विश्वास है. हम अपना पक्ष मजबूती से रखेंगे.

16 बंधक विधायकों को भी सामने लाना चाहिए
मध्य प्रदेश में सरकार बनाने का दावा कर रही बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए कमलनाथ ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अवैधानिक तरीके से सत्ता हासिल करने के लिए छटपटा रही है. वह फ्लोर टेस्ट पर तो खूब बात कर रही है लेकिन बंधक बनाए गए 16 विधायकों पर चुप है. मुख्यमंत्री ने कहा कि विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के लिये तैयार हैं बशर्ते पहले बेंगलुरु में बंधक बनाए गए 16 विधायकों को स्वतंत्र किया जाए. कमलनाथ ने ये बात मुख्यमंत्री निवास में हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक में कही.

ये भी पढ़ें: कमलनाथ सरकार पर संकट, BJP की याचिका पर सुनवाई कल, गवर्नर ने दिए फ्लोर टेस्ट के निर्देश

कांग्रेस विधायक दल की हुई बैठक
मुख्यमंत्री ने कांग्रेस विधायकों को सावधान किया कि वे किसी भी तरह की अफवाह में न आए. विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन कांग्रेस विधायकों की एकजुटता और मर्यादित आचरण की भी सीएम ने सराहना की. कमलनाथ ने कहा कि सदन में भाजपा के व्यवहार और आचरण से जाहिर है कि वे संवैधानिक तरीकों से नहीं बल्कि अवैधानिक तरीके से सत्ता में आने के सपने देख रही है.

ये भी पढ़ें: फ्लोर टेस्ट नहीं कराने पर भड़के शिवराज, कहा- Corona का झूठ भी नहीं बचा पाएगा कमलनाथ सरकार

कांग्रेस विधायक दल की बैठक में कांग्रेस पक्ष के सभी विधायकों के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद दिग्विजय सिंह, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पर्यवेक्षक मुकुल वासनिक, हरीश रावत और पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह शामिल रहे. बैठक का संचालन गोविंद सिंह ने किया.

लाइव देखें मध्य प्रदेश की सियासत से जुड़ी हर खबर: