close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सीएम कमलनाथ ने किया बाढ़ प्रभावित नीमच जिले का दौरा, कहा- 15 अक्टूबर तक सबको मिल जाएगा मुआवजा

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि मालवा, निमाड़, नीमच मंदसौर क्षेत्र में इस बार इतिहास में सर्वाधिक भारी बारिश हुई है. 

सीएम कमलनाथ ने किया बाढ़ प्रभावित नीमच जिले का दौरा, कहा- 15 अक्टूबर तक सबको मिल जाएगा मुआवजा
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने केंद्र की मदद का इंतजार किए बिना राहत देने का काम 22 सितम्बर से शुरु कर दिया है. (फाइल फोटो)

भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ ने सोमवार को नीमच जिले के बाढ़ प्रभावित ग्राम रामपुरा के लोगों से राहत शिविरों में की मुलाकात की. इस दौरान सीएम कमलनाथ ने बाढ़ पीड़ितों को आश्वासन देते हुए कहा कि 15 अक्टूबर तक सभी बाढ़ प्रभावितों को मुआवजा वितरित कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि मुआवजे के लिए पहले के समान भटकना नहीं पड़ेगा बल्कि सरकार पीड़ितों के पास जाएगी, उन्हें सरकार के पास नहीं जाना पड़ेगा. कमलनाथ अतिवृष्टि से सर्वाधिक प्रभावित नीमच जिले के दौरे पर गए थे. 

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि मालवा, निमाड़, नीमच मंदसौर क्षेत्र में इस बार इतिहास में सर्वाधिक भारी बारिश हुई है. इससे जो नुकसान हुआ है, वह भी बड़ा है और हम इसका आंकलन कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने केंद्र की मदद का इंतजार किए बिना राहत देने का काम 22 सितम्बर से शुरु कर दिया है और अगले 15 अक्टूबर तक हर प्रभावितों को मदद दे दी जाएगी. उन्होंने बताया कि बाढ़ की विभीषिका के दौरान वे हर घंटे की स्थिति कि जानकारी ले रहे थे और जिला प्रशासन से निरंतर संपर्क में थे.

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि पीड़ितों को मुआवजा देने के साथ ही सड़कें, पुल-पुलिया, शासकीय भवन और पीने के पानी सहित अन्य जो नुकसान हुआ है, उसके भी सुधार का काम तत्काल शुरु किया जाएगा. कमलनाथ ने कहा कि व्यापारी और किसान की फसलों के नुकसान की भी पूरी भरपाई सरकार करेगी. वहीं, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रभावितों की मदद के लिए कदम उठाए गए हैं. 

जयवर्धन सिंह ने बताया कि जिन परिवारों के मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं, उसके लिए भानपुरा पंचायत से सात करोड़ रुपए दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आवास मिशन ने रामपुरा गांव में जिन के भी घर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हुए, उन्हें ढाई लाख रुपये सरकार देगी. सभी रहवासियों को शुद्ध पानी मिले, हर घर में नल से पानी पहुंचे, इसके लिए उन्होंने पांच करोड़ रुपये उपलब्ध कराये गए है. मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ प्रभारी एवं जल संसाधन मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा, विधायक हरदीप सिंह डंग और पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन उपस्थित थीं.