गड़बड़ी करने वाले अस्पतालों पर बरसे सीएम, बोले- अभी हमें अभी लंबी लड़ाई लड़नी है

सीएम ने जानकारी दी है कि गांव की और वॉर्ड की टीम किल कोरोना अभियान के तहत घर घर जाकर सर्वे कर रही है...

गड़बड़ी करने वाले अस्पतालों पर बरसे सीएम, बोले- अभी हमें अभी लंबी लड़ाई लड़नी है
शिवराज सिंह चौहान, सीएम, एमपी..

भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने प्रदेश में कोरोना के हालातों को लेकर प्रदेश की जनता को संबोधित किया है. इस दौरान उन्होंने कहा कि 'इस महामारी ने हमसे अपनों को छीना है. सांसद, विधायक, समाजसेवी, पत्रकार और कई कोरोना वॉरियर्स को खोया है. मैं जब ये सोचता हूं तो मन भर जाता है. दर्द बड़ा है. लेकिन इस दर्द को सहते हुए हमें आगे बढ़ना पडे़गा'.

सीएम शिवराज ने कहा कि 'आज मैं कहना चाहता हूं कि कोई भी बच्चा अपने आप को अनाथ न समझे. मेरे होते हुए प्रदेश के किसी भी बच्चे को अनाथ नहीं रहने दिया जाएगा. बच्चों की चिंता हम करेंगे. ऐसे बेटा-बेटी जिनके परिवार में कोई कमाने वाला नहीं रहा उनके लिए एक योजना के तहत 5 हजार रुपए दिए जाएंगे. निशुल्क राशन दिया जाएगा. निशुल्क शिक्षा का इंतजाम किया जाएगा.'

एमपी में घट रही संक्रमण की दर

सीएम शिवराज ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना की संक्रमण की दर को घटाने में हम कामयाब हुए हैं. 24% से यह लगभग 11% हो गई है. कल जो पॉज़िटिव केस आये, उनकी संख्या 8,087 है. संख्या लगातार कम हो रही है. मैं निवेदन करता हूं. कf हमें अभी लंबी लड़ाई लड़नी है, लंबा सफर तय करना है.'

परिस्थिति सामान्य होने के बाद भी हमें सावधानी बरतना है- शिवराज

सीएम ने जानकारी दी है कि गांव की और वॉर्ड की टीम किल कोरोना अभियान के तहत घर घर जाकर सर्वे कर रही है. मैं क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों से अपील करता हूं कि आप भी उस टीम के साथ जाएं और लोगों को कोरोना के लक्षण बताने के लिए जागरुक करें.' शिवराज सिंह ने कहा कि कोरोना संक्रमण अभी रहेगा. हमें इससे बचने के लिए अपने आचरण में बदलाव लाना होगा. गांव और शहर के लोगों से आग्रह है कि लंबे समय तक अब बड़े आयोजन नहीं हो पाएंगे. परिस्थिति सामान्य होने के बाद भी हमें सावधानी बरतना है.

बच्चों के लिए अलग से बनेंगे हॉस्पिटल
हमारे जो कोरोना वॉरियर्स हैं, जो अभी मरीजों के इलाज में लगे हैं, उनको सम्मानित करने की योजना हम बना रहे हैं. आज हमने तय किया कि पत्रकारों को भी योजना के तहत कवर किया जायेगा.' पूरे प्रदेश में 5,000 ऑक्सीजन बेड हम और बढ़ा रहे हैं. बच्चों के लिये भी ऑक्सीजन बेड हम तैयार कर रहे हैं. अस्पतालों में माहौल अच्छा रहना चाहिये. ताकि मरीज अवसाद में न आयें. उनका मनोबल भी बढ़ाते रहा जाये:

सीएम शिवराज की चेतावनी
सीएम शिवराज ने सख्स लहजे में कहा कि अस्पताल सेवा के भाव से काम कर रहे हैं, लेकिन कुछ ऐसे भी हैं, जो गड़बड़ कर रहे हैं, उनको हम छोड़ेंगे नहीं. जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के लिये एक और काम है. आपके जिलों में जो बच्चे अनाथ हो गये हैं. उनकी सूची बनाइये.'

ये भी पढ़ें: शिवराज सरकार का अहम फैसला, ठेकों का लाइसेंस किया महंगा, शराब के शौकीनों को दिया तोहफा

WATCH LIVE TV