कमलनाथ पर शिवराज का वार- दुनिया भर के वाशिंग पाउडर से भी नहीं धुल सकते उनके 'दाग'

मध्य प्रदेश में 28 सीटों पर उपचुनाव होना है, जिसके लिए 3 नवंबर को सभी सीटों पर मतदान होना है. जिसके पहले पार्टी के दिग्गज नेताओं मे शब्द वॉर शुरू हो गया है. 

कमलनाथ पर शिवराज का वार- दुनिया भर के वाशिंग पाउडर से भी नहीं धुल सकते उनके 'दाग'
CM शिवराज सिंह चौहान और पूर्व CM कमलनाथ

भोपालः मध्य प्रदेश में उप चुनाव से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और पूर्व मुख्य मंत्री कमलनाथ के बीच शब्दों का वॉर शुरू हो गया है. कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियां इस बार राज्य में होने वाले 28 सीटों पर उप चुनाव में मुख्य पार्टियों के रूप में आमने-सामने उतर रही हैं. जिसके लिए आने वाली 3 नवंबर को राज्य में मतदान होगा, तो वहीं सभी 28 सीटों के नतीजे 10 नवंबर को जारी कर दिए जाएंगे. 

ये भी पढ़ेंः- CG: AIIMS में कोरोना संक्रमित महिला ने तीन बच्चों को दिया जन्म, तीनों सुरक्षित

कमलनाथ ने खुद को बताया था 'बेदाग'
पिछले कई दिनों से बीजेपी, कमलनाथ पर किसान कर्जमाफी में घोटाले के आरोप लगा रही थी. उन्होंने कहा था कि कमलनाथ के 15 महीनों में सरकार ने किसानों को लुटने का काम किया है. यहां तक कि किसी भी किसान का कर्ज माफ नहीं किया था. जिस पर पूर्व मुख्यमंत्री ने पलटवार करते हुए कहा था शिवराज सरकार के मंत्री ने खुद विधानसभा में किसानों की कर्जमाफी का सबूत दिया था. उन्होंने साथ ही कहा था कि बीजेपी द्वारा लगाए जा रहे सभी आरोपों से वे 'बेदाग' है.

ये भी पढ़ेंः- MP के 50 इंजीनियरिंग कॉलेजों में नहीं हुआ एक भी एडमिशन, काउंसलिंग का दूसरा राउंड 2 नवंबर को

दाग गहरे हैं - शिवराज
कमलनाथ के खुद को बेदाग बताने पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री पर पलटवार करते हुए कहा कि उनके दाग बहुत गहरे हैं. दुनिया भर के वाशिंग पाउडर ले आए तब भी धुल नहीं सकते हैं. शिवराज सरकार के 15 सालों का जवाब मांगते हुए कमलाथ ने बीजेपी से सवाल किए थे. जिस पर उन्होंने जवाब दिया है कि सीएम रहते हुए कमलनाथ खुद औद्योगिक उपलब्धियों का बखान किया करते थे.

ये भी पढ़ेंः- साथियों पर FIR के बाद दिया था धरना, अब जीतू पटवारी पर ही दर्ज हुआ मामला 

मैग्निफिसेंट एमपी पर साधा निशाना
कमलनाथ पर हमले में बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने बयान दिया कि मैग्नीफिसेंट एमपी कार्यक्रम में कमलनाथ ने अपनी कई खासियतें बताई थी. उन्होंने मुख्यमंत्री रहते हुए इंदौर में फार्मा कंपनियों की श्रृंखला, गारमेंट कंपनी समेत एग्रो इंडस्ट्रीज की विशेषता तक गिनाई थी. इन्हीं शब्द वॉर के साथ, 28 सीटों पर उप चुनाव के लिए मतदान की तारीखें भी पास आती जा रही है. 3 नवंबर को मतदान से पहले सभी पार्टियां और उम्मीदवार अंतिम प्रयास कर रही है. 

WATCH LIVE TV