कोचिंग संचालकों ने सरकार से मांगी सेंटर्स खोलने की अनुमति, कहा बनाए अलग गाइडलाइन

इंदौर कोचिंग ऑनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष रवि दांगी ने कहा कि जिले में 5 हजार तो प्रदेश में 35 हजार से ज्यादा कोचिंग कोरोना संक्रमण की वजह से बंद हैं. सभी गतिविधियां चालू है फिर कोचिंग्स बंद क्यों?

कोचिंग संचालकों ने सरकार से मांगी सेंटर्स खोलने की अनुमति, कहा बनाए अलग गाइडलाइन

वैभव शर्मा/इंदौर: इंदौर के प्राइवेट कोचिंग संचालकों ने सरकार से कोचिंग सेंटर्स को शुरू करने की मांग की है. संचालकों का कहना है कि पिछले 7 महीने से कोचिंग सेंटर्स बंद हैं, जिसकी वजह से 5 लाख शिक्षकों और कर्मचारियों की आर्थिक स्थिति बिगड़ गई है. इसलिए प्रशासन को कोचिंग सेंटर्स के संबंध में भी गाइडलाइन बनाना चाहिए, ताकि कोचिंग सेंटर्स फिर से खुल सकें.

ये भी पढ़ेंः-''नेता तो यहां आते हैं, लेकिन फसल नुकसान पर जाने कहां चले जाते हैं?''- रतलाम किसान

इंदौर कोचिंग ऑनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष रवि दांगी ने कहा कि जिले में 5 हजार तो प्रदेश में 35 हजार से ज्यादा कोचिंग कोरोना संक्रमण की वजह से बंद हैं. इंदौर में लगभग सभी गतिविधयां शुरू हो चुकी हैं, लेकिन कोचिंग संस्थान और सभी प्रोफेशनल इंस्टीट्यूट अभी बंद हैं.

ये भी पढ़ेंः-CAG रिपोर्ट में खुलासा: मुरैना और श्योपुर के तत्कालीन कलेक्टरों ने की थी अवैध भर्तियां

इंदौर कोचिंग ऑनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष रवि दांगी ने कहा कि कोचिंग संस्थान शिक्षा के अहम पार्ट हैं, इसलिए स्कूल की तरह इन्हें भी खोलने की अनुमति दी जाए. हालांकि प्रशासन की तरफ से अभी तक इस पर कोई बयान नहीं दिया गया है.

WATCH LIVE TV