MP: नए साल के जश्न का बना रहे हैं प्लान, तो पहले यहां पढ़ें कैसा रहेगा तापमान

नए साल में मध्य प्रदेश में बारिश और ओले गिरने की संभावना है. 1 और 2 जनवरी को भोपाल, ग्वालियर, उज्‍जैन, जबलपुर, और रीवा संभागों में बारिश की भी संभावना है.

MP: नए साल के जश्न का बना रहे हैं प्लान, तो पहले यहां पढ़ें कैसा रहेगा तापमान
1 और 2 जनवरी को भोपाल, ग्वालियर, उज्‍जैन, जबलपुर, और रीवा संभागों में बारिश की भी संभावना है.

भोपाल: पूरा उत्तर भारत ठंड की चपेट में है. हर दिन ठंड अपना ही रिकॉर्ड तोड़कर नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है. कई शहरों में पिछले कई दिनों से धूप ने दर्शन नहीं दिए हैं. वहीं अब कोहरे ने भी अपने पैर पसारने शुरु कर दिए हैं.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में भी कड़ाके की ठंड का दौर जारी है. उत्तर से आ रही बर्फीली हवाओं के कारण पूरा मध्य प्रदेश शीत लहर की चपेट में है. प्रदेश का उत्तरी हिस्सा उत्तर-पश्चिमी ठंडी हवाओं की चपेट में है. जबकि दक्षिणी हिस्से में उत्तर-पूर्वी ठंडी हवाएं बह रही हैं.

मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले 24 से 48 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश में हवाओं की दिशा में बदलाव की संभावना नहीं है. इसके बाद मध्य प्रदेश में हवाएं दक्षिण-पूर्वी होने की संभावना है. जिस कारण न्यूनतम और अधिकतम तापमान में वृद्धि की संभावना है. एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ द्वारा पश्चिमी हिमालय क्षेत्र को 30 दिसंबर की रात से प्रभावित करने की संभावना है.

इस पश्चिमी विक्षोभ एवं निचले तल की पूर्वी हवाओं के परस्पर प्रभाव (इंटरेक्शन) के कारण 1 और 2 जनवरी को मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में वर्षा के साथ साथ कहीं-कहीं ओले गिरने की भी संभावना है. आगामी 2 दिनों के दौरान उत्तरी मध्य प्रदेश में घना कोहरा पढ़ सकता है. साथ ही आगामी 24 से 48 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश के न्यूनतम तापमानों में परिवर्तन की संभावना नहीं है.

रीवा, सागर, ग्वालियर एवं चम्बल संभागों के जिलों में कुछ स्थानों पर शीत लहर के साथ-साथ कहीं-कहीं तीव्र शीत लहर की संभावना है. आगामी 24 से 48 घंटों के दौरान रीवा, सागर, ग्वालियर, चम्बल, जबलपुर, भोपाल एवं इंदौर संभागों के जिले बेहद ठंडे रहने वाले हैं. वहीं, आगामी 24 घंटों में सागर, रीवा, शहडोल, ग्वालियर एवं चम्बल संभागों के जिलों में कोहरा की भी संभावना है.