मध्य प्रदेश में फेक न्यूज से सतर्क होंगे कॉलेज छात्र, कमलनाथ सरकार ने बनाया ये प्लान

उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने बताया कि फेसबुक द्वारा 200 मास्टर ट्रेनर्स तैयार कर प्रत्येक कॉलेज में छात्रों को फेक और रियल न्यूज में फर्क समझाया जाएगा.

मध्य प्रदेश में फेक न्यूज से सतर्क होंगे कॉलेज छात्र, कमलनाथ सरकार ने बनाया ये प्लान
जीतू पटवारी ने कैंब्रिज असेसमेंट कोर्स द्वारा चयनित छात्रों को सर्टिफिकेट दिए.

भोपाल: सोशल मीडिया पर चल रही फेक और रियल न्यूज में अंतर समझाने के लिए उच्च शिक्षा विभाग फेसबुक के साथ मिलकर अभियान चलाने जा रहा है. उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने बताया कि फेसबुक द्वारा 200 मास्टर ट्रेनर्स तैयार कर प्रत्येक कॉलेज में छात्रों को फेक और रियल न्यूज में फर्क समझाया जाएगा.

राजधानी के एक्सीलेंस कॉलेज में कैम्ब्रिज असेसमेंट इंग्लिश के सर्टिफिकेशन कार्यक्रम में पहुंचे जीतू पटवारी ने छात्रों से कहा कि हिंदू-मुस्लिम में भेदभाव इंसानों ने पैदा किया है. सोशल मीडिया में जो नफरत फैलाते हैं वह कभी देशभक्त नहीं बन सकते.

जीतू पटवारी ने कहा कि हमारा और आपका काम है कि हम सोशल मीडिया का सही उपयोग करें. खबरों की हकीकत से रूबरू होना जरूरी है. सोशल मीडिया पर वायरल होती खबरों की हकीकत से कम ही लोग वाकिफ होते हैं. इसलिए फेसबुक के साथ मिलकर असली और नकली खबरों में अंतर समझाने के लिए उच्च शिक्षा विभाग अभियान चलाएगा.

एक्सीलेंस कॉलेज में उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने कैंब्रिज विश्वविद्यालय के पदाधिकारियों के साथ बैठक भी की और कैंब्रिज असेसमेंट कोर्स द्वारा चयनित छात्रों को सर्टिफिकेट दिए. यहां कैम्ब्रिज असेसमेंट इंग्लिश (यूके) की सीईओ फ्रांसिस्का वुडवर्ड भी मौजूद रहीं.

जीतू पटवारी ने इस दौरान छात्रों को संबोधित करते हुए कहा यह मध्य प्रदेश का सौभाग्य है कि कैंब्रिज विश्वविद्यालय की सीईओ प्रदेश के छात्रों को सर्टिफिकेट देने भोपाल आई हैं. उन्होंने कहा कि यह कोर्स मध्य प्रदेश के छात्रों को देश में ही नहीं बल्कि विदेश में भी रोजगार दिलाने में सफल होगा. कैम्ब्रिज असेसमेंट इंग्लिश का प्रशिक्षण अगले शिक्षा सत्र से दो चरणों में किया जाएगा. प्रत्येक चरण में 25-25 हजार विद्यार्थी प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे.