close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कंप्यूटर बाबा का दावा, 'बीजेपी के 4 विधायक मेरे संपर्क में हैं, कमलनाथ के निर्देश पर सामने लाऊंगा'

बाबा ने दावा करते हुए कहा कि बीजेपी के चार विधायक उनके संपर्क में हैं और राज्य सरकार में शामिल होना चाहते हैं. 

कंप्यूटर बाबा का दावा, 'बीजेपी के 4 विधायक मेरे संपर्क में हैं, कमलनाथ के निर्देश पर सामने लाऊंगा'
बाबा ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर भी आरोप लगाए.

इंदौर: मध्य प्रदेश विधानसभा में दंड विधि संशोधन विधेयक को लेकर कराए गए मत विभाजन में बीजेपी के दो विधायकों नारायण त्रिपाठी और शरद कोल द्वारा कांग्रेस का साथ दिए जाने के एक दिन बाद गुरुवार को नदी न्यास के अध्यक्ष कंप्यूटर बाबा उर्फ नामदेव त्यागी ने बड़ा बयान दिया है. बाबा ने दावा करते हुए कहा कि बीजेपी के चार विधायक उनके संपर्क में हैं और राज्य सरकार में शामिल होना चाहते हैं. 

इंदौर दौरे पर आए कंप्यूटर बाबा ने पत्रकारों से कहा "चार बीजेपी विधायक मेरे संपर्क में हैं. मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देश के बाद विधायकों को सामने लाऊंगा. वे सरकार में शामिल होना चाहते हैं."

हालांकि, बाबा चारों विधायकों को लेकर किसी तरह की जानकारी देने से बचते रहे. बाबा ने कहा, "जब मेरे जैसा बाबा बीजेपी से नाराज हो सकता है तो उनके विधायक क्यों नहीं. बीजेपी के कई विधायकों में पार्टी से नाराजगी है."  गौरतलब है कि विधानसभा में बुधवार को दंड विधि संशोधन विधेयक को लेकर कराए गए मत विभाजन में बीजेपी के दो विधायकों नारायण त्रिपाठी और शरद कोल द्वारा कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया था.  

 

बाबा ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर भी आरोप लगाए. बाबा ने कहा कि नर्मदा नदी पर निरीक्षण के दौरान सबसे ज्यादा अवैध उत्खनन शिवराज सिंह चौहान की विधानसभा में पाया गया. उन्होंने कहा, "राज्य सरकार को इस उत्खनन को रोकने में अभी कुछ और वक्त लगेगा लेकिन यह जल्द ही समाप्त हो जाएगा. गौरतलब है कि नामदेव त्यागी को शिवराज सिंह सरकार के दौरान कैबिनेट राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया था. हालांकि पिछले साल उन्होंने शिवराज सरकार पर उनके प्रस्तावों को अनदेखी का आरोप लगाते पद से इस्तीफा दे दिया था.