कंप्यूटर बाबा ने जल पुरुष राजेंद्र सिंह को बताया खनन माफिया, 'फ्रॉड' वाले बयान पर पलटवार

कम्प्यूटर बाबा ने जल पुरुष राजेन्द्र सिंह पर पलटवार करते हुए उन्हें खनन माफिया बता दिया.  

कंप्यूटर बाबा ने जल पुरुष राजेंद्र सिंह को बताया खनन माफिया, 'फ्रॉड' वाले बयान पर पलटवार
आमने-सामने कम्प्यूटर बाबा और जल पुरुष राजेंद्र सिंह.

कर्ण मिश्रा/जबलपुर: मैग्सेसे पुरस्कार विजेता जल पुरुष राजेंद्र सिंह और कमलनाथ सरकार में राज्य मंत्री कम्प्यूटर बाबा आमने-सामने हैं. राजेंद्र सिंह के नदियों की साफ-सफाई और खनन रोकने में जुटे बाबाओं को लेकर 'फ्रॉड' शब्द का इस्तेमाल किए जाने पर पलटवार करते हुए कम्प्यूटर बाबा ने उन्हें उलटा खनन माफिया बता दिया है.

दरअसल, मंगलवार को राष्ट्रीय जल सम्मेलन में हिस्सा लेने भोपाल पहुंचे राजेंद्र सिंह ने कहा था कि कम्प्यूटरों से नदी जीवित नहीं होती है. यदि नदियों का वास्तविक संरक्षण करना है तो बिना किसी पद की अपेक्षा किए नि:स्वार्थ भाव से काम करना होगा. जिसको पद, पैसे, पॉवर चाहिए, वो नदियों को जिंदा नहीं कर सकते हैं. राजेन्द्र सिंह ने जग्गी वासुदेव पर भी हमला बोला था. उन्होंने कहा कि सारे फ्रॉड बाबा नदियों में आ गए हैं. बीते दिनों नदियों को लेकर माहौल बना तो इनको फ्री में मैदान मिल गया है.

उधर, कम्प्यूटर बाबा ने जल पुरुष राजेन्द्र सिंह पर पलटवार करते हुए उन्हें खनन माफिया बता दिया. उन्होंने कहा कि जो आरोप लगा रहे हैं वो खुद खनन माफिया हैं. कंप्यूटर बाबा ने बताया कि रेत खनन को लेकर लगातार कार्रवाई जारी है.

जबलपुर में नर्मदा गौ कुंभ की बैठक में शामिल होने पहुंचे कम्प्यूटर बाबा ने शिवराज सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि 15 साल का कचरा साफ करने में समय लगेगा. उन्होंने शिवराज चौहान के इलाके में सबसे ज्यादा अवैध खनन होने का आरोप लगाया.