दिमनी में कांग्रेस प्रत्याशी का विरोध, कार्यकर्ताओं ने विरोध में फूंका पुतला

मध्य प्रदेश विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस ने जब से प्रत्याशियों के नाम का ऐलान किया है,तब से पार्टी में बगावती सुर तेज हो गए हैं.  दिमनी विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी रविन्द्र सिंह तोमर का फिर विरोध हुआ है.

दिमनी में कांग्रेस प्रत्याशी का विरोध, कार्यकर्ताओं ने विरोध में फूंका पुतला
फाइल फोटो

दिमनी: मध्य प्रदेश विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस ने जब से प्रत्याशियों के नाम का ऐलान किया है,तब से पार्टी में बगावती सुर तेज हो गए हैं.  दिमनी विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी रविन्द्र सिंह तोमर का फिर विरोध हुआ है.शुक्रवार को युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओें ने रैली निकालकर नन्देपुरा चौराहे पर कांग्रेस प्रत्याशी का पुतला जलाया साथ ही मुर्दाबाद के नारे भी लगाए. कार्यकर्ताओं ने आलाकमान से प्रत्याशी बदलने की मांग की है. 

रविवार को भी रविंद्र सिंह तोमर के खिलाफ प्रदर्शन हुआ था. कार्यकर्ता उन्हें उत्तरप्रदेश का बाहरी प्रत्याशी बताकर नारेबाजी कर रहे थे.नारेबाजी करने वालों में दिमनी कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष गोपाल सिंह तोमर, रामकिशोर सिंह तोमर महामंत्री कांग्रेस दिमनी, कमलेंद्र तोमर अध्यक्ष आईटी सेल, भोला सिंह तोमर अध्यक्ष कांग्रेस सेवादल, किशन सिंह तोमर, अतुल उपाध्याय के साथ आधा सैकड़ा लोग शामिल थे. 

आपको बता दें कि रविंद्र सिंह तोमर  ने बीएसपी के टिकट पर 2008 में चुनाव लड़ा था लेकिन बीजेपी से 150 वोटों से हार गए थे. उसके बाद तोमर बीएसपी से भाजपा में चले गए. लेकिन 2013 में विधान सभा में टिकट न मिलने पर कांग्रेस में आ गए. 2013 में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा और बीएसपी से 2500 वोटों से हार गए. रवीन्द्र सिंह तोमर सिंधिया समर्थक माने जाते थे, लेकिन उनके साथ नहीं गए.

ये भी पढ़ें: फसल बीमा में मिले 4 रुपये, किसान ने कहा-''इतने में तो जहर भी नहीं आता''

टिकट बंटवारे के साथ कांग्रेस में बगावत

गौरतलब है कि करैरा में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के विरोध में नारे लगाए थे औऱ प्रागीलाल जाटव का पुतला दहन किया था इसी के साथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मांग की थी कि अगर करैरा उपचुनाव में टिकट नहीं बदला तो भारी संख्या में कार्यकर्ता कमलनाथ को इस्तीफा भेजेंगे.

आपको बता दें कि प्रागीलाल जाटव हाल ही में बीएसपी का साथ छोड़ कांग्रेस के साथ आए हैं. वे तीन बार बीएसपी से चुनाव लड़े,  दो बार दूसरे नम्बर रहे और एक बार 2018 में तीसरे नम्बर पर आए थे.  अभी तक उन्होंने किसी भी चुनाव में जीत हासिल नहीं की है.

WATCH LIVE TV: