सच्चा v/s झूठा: शिवराज के कांग्रेस सरकार गिराने वाले बयान पर घमासान, CM के नार्को टेस्ट की मांग

मध्य प्रदेश में कांग्रेस अक्सर शिवराज सरकार पर पैसे देकर कमलनाथ की सरकार गिराने का आरोप लगाती है. कांग्रेस के इन आरोपों के बीच शिवराज सरकार ने मंच ऐलान किया था कि रणवीर जाटव मेरे पास कमलनाथ की सरकार को गिराने के लिए आए थे. उनके इस बयान के बाद सियासी पारा और चढ़ गया है.

सच्चा v/s झूठा: शिवराज के कांग्रेस सरकार गिराने वाले बयान पर घमासान, CM के नार्को टेस्ट की मांग
फाइल फोटो

ग्वालियर: मध्य प्रदेश में कांग्रेस अक्सर शिवराज सरकार पर पैसे देकर कमलनाथ की सरकार गिराने का आरोप लगाती है. कांग्रेस के इन आरोपों के बीच शिवराज सरकार ने मंच ऐलान किया था कि रणवीर जाटव मेरे पास कमलनाथ की सरकार को गिराने के लिए आए थे. उनके इस बयान के बाद सियासी पारा और चढ़ गया है. कांग्रेस ने आक्रामक तेवर दिखाते हुए बीजेपी पर जोरदार हमला बोला है. 

कांग्रेस नेता के के मिश्रा ने ट्वीट कर लिखा ‘’शिवराज जी चुनावी सभाओं में कह रहे हैं,BJP प्रत्याशी गिरार्ज डंडोतिया,रणवीर जाटव उनके पास कमलनाथ सरकार गिराने आये थे,अब यह भी बता दें सरकार गिराने हेतु 1250 cr किसके कहने पर, किस केन्द्रीय मंत्री से उधार मिले थे,440cr बिकाऊओं के किस आका को दिए,छर्रो को कितने?CM नार्को टेस्ट हो’’

आपको बता दें कि गुरुवार को गोहद विस के मालनपुर में बीजेपी प्रत्याशी रणवीर जाटव के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित करने के लिए सीएम शिवराज पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि सिंधिया से पहले मेरे पास रणवीर आया था. उसने कहा ये कांग्रेस की सरकार रहनी नहीं चाहिए, ये मध्यप्रदेश को बर्बाद कर देंगे. फिर मैंने उनसे कहा कि  सोच लो तुम्हारे करियर का सवाल है. तब रणवीर बोले अब चाहे जो हो जाये इस कांग्रेस की सरकार को गिरा कर ही हम चैन की सांस लेंगे. 

ये भी पढ़ें:  सिंधिया नहीं इस कांग्रेसी नेता की वजह से गिरी थी कमलनाथ सरकार, शिवराज ने मंच से बताया नाम

आपको बता दें कि रणवीर जाटव को सिंधिया समर्थकों में से एक माना जाता है. वो कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए थे. उन्होंने उपचुनाव के लिए गोहद नामांकन भरा था. वो गोहद में दो बार विधायक रह चुके हैं. 

WATCH LIVE TV: