MP: मंत्री प्रियव्रत सिंह बोले- अर्थव्यवस्था के मुद्दे से ध्यान भटका रही केंद्र सरकार

प्रियव्रत सिंह ने कहा कि वर्तमान के हालातों को देखकर लगता है कि देश में हालात खराब हैं. लेकिन सरकार इस पूरे मामले पर अनभिज्ञ बना रहना चाहती है.

MP: मंत्री प्रियव्रत सिंह बोले- अर्थव्यवस्था के मुद्दे से ध्यान भटका रही केंद्र सरकार
अर्थव्यवस्था के मुद्दे से अलग होकर केंद्र सरकार ध्यान भटकाने का काम कर रही है: प्रियव्रत सिंह

कर्ण मिश्रा/जबलपुर: देश में महंगाई दर 7.35 फीसदी पहुंचने पर कांग्रेस अब केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर हो गई है. जबलपुर पहुंचे जिले के प्रभारी मंत्री और प्रदेश के उर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने इस मामले में केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया. मीडिया से बात करते हुए प्रियव्रत सिंह ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह चरमरा चुकी है. अर्थव्यवस्था के मुद्दे से अलग होकर केंद्र सरकार ध्यान भटकाने का काम कर रही है. कभी नागरिकता संशोधन कानून तो कभी धारा 370 और कभी कुछ. जानबूझकर देश की जनता का ध्यान भटकाया जा रहा है.

प्रियव्रत सिंह ने कहा कि वर्तमान के हालातों को देखकर लगता है कि देश में हालात खराब हैं. लेकिन सरकार इस पूरे मामले पर अनभिज्ञ बना रहना चाहती है. ऊर्जा मंत्री ने याद दिलाया कि कांग्रेस के शासन में भी विश्व मंदी का दौर था. लेकिन तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने नीतिगत फैसले लिए. जिससे मंदी के दौर में भी अर्थव्यवस्था सही ढंग से चली और कुछ भी गड़बड़ नहीं हुई. लेकिन मौजूदा हालात चिंताजनक हैं.

बिजली महकमे के घाटे को लेकर जल्द लाया जाएगा श्वेत पत्र

बिजली महकमे को लगातार हो रहे घाटे और पिछले चार वित्तीय वर्षों को लेकर दायर टू अप याचिकाओं और नई टेरिफ याचिका पर प्रियव्रत सिंह ने बड़ी बात कही. उन्होंने कहा कि घाटे को 1 दिन में वसूला नहीं जा सकता. लेकिन, जल्द सरकार इस मामले में श्वेत पत्र लेकर आने वाली है. नई दरों को लेकर टेरिफ याचिका दायर की गई है. लेकिन सरकार भी नियामक आयोग के समक्ष अपना पक्ष रखेगी और कोशिश रहेगी कि बिजली की दर बिल्कुल भी ना बढ़े.

सौभाग्य योजना घोटाले में 29 फरवरी तक जांच रिपोर्ट होगी तलब
सौभाग्य योजना में हुए करोड़ों के घोटाले पर प्रियव्रत सिंह ने कहा कि यह पूरा घोटाला 100 करोड़ से भी ज्यादा का है. मंडला और डिंडोरी जिले की जांच कराई गई है. जिसमें करोड़ों की वसूली अधिकारियों पर संपादित की गई है. जबकि 29 फरवरी तक इस पूरे घोटाले की रिपोर्ट तलब की गई है. पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में ऐसे हजारों वर्क ऑर्डर शासन द्वारा स्वीकृत किए गए हैं. जिसमें कई नियमों को और मापदंडों को सरकार ने शिथिल कर दिया. इसके साथ ही सिंगरौली, सीधी, धार, भिंड और मुरैना में भी जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

प्रियव्रत सिंह ने साध्वी प्रज्ञा के लिए जोड़े हाथ
मंत्री ने साध्वी प्रज्ञा द्वारा खुद की जान को खतरा बताए जाने पर हाथ जोड़ कर बोला कि मध्य प्रदेश में वह पूरी तरह से सुरक्षित हैं.