close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

श्रेय लेने की होड़ में सीएम शिवराज से पहले कांग्रेसी सांसद ने किया मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन

इस मामले में भूरिया तथा 15 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

श्रेय लेने की होड़ में सीएम शिवराज से पहले कांग्रेसी सांसद ने किया मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन
फोटो साभारः फेसबुक

रतलाम: विकास कार्यों के लिए श्रेय लेने की होड़ के चलते एक विवाद उस समय पैदा हो गया, जब पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं कांग्रेसी सांसद कांतिलाल भूरिया ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा रतलाम में नए शासकीय मेडिकल कॉलेज के शुभारंभ करने के एक दिन पहले ही फीता काटकर कॉलेज का कथित तौर पर उद्घाटन कर दिया. इस मामले में भूरिया तथा 15 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

बताया जा रहा है कि रतलाम में नवनिर्मित मेडिकल कॉलेज के निर्माण का श्रेय लेने हेतु 11 सितम्बर को रतलाम झाबुआ लोकसभा क्षेत्र से सांसद भूरिया अपने समर्थकों के साथ जिले के बांजली गांव पहुंचे और पुजारियों की उपस्थिति में फीता काटकर इसका उद्घाटन कर दिया. इसके बाद निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 12 सितम्बर को मुख्यमंत्री चौहान ने भी पुजारियों की मौजूदगी में फीता काटकर इसका लोकार्पण किया.

मंगलवार का दिन शुभ इसलिए किया उद्घाटन- कांतिलाल भूरिया
भूरिया ने कॉलेज का उद्घाटन करते हुए कहा, ‘‘मंगलवार का दिन शुभ है, मैंने कॉलेज का उद्घाटन इसलिए किया क्योंकि यह यूपीए सरकार के दौरान मंजूर की गई योजना है.’’ भूरिया के कॉलेज उद्घाटन की सूचना के बाद जिला प्रशासन तुरंत हरकत में आया और घटनास्थल पर स्थिति की निगरानी के लिए वहां पुलिस बल तैनात कर दिया. रतलाम के पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने बताया कि इसके साथ ही कॉलेज प्रशासन की शिकायत पर भूरिया और 15 अन्य लोगों के खिलाफ दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 तथा भारतीय दंड संहिता की धारा 188 और धारा 448 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

बुधवार को सीएम शिवराज ने किया कॉलेज का लोकार्पण
इस बीच, मुख्यमंत्री चौहान ने बुधवार को निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 350 करोड़ रुपए की लागत से बने इस मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण किया और इस मौके पर कहा, ‘‘यह उज्जैन संभाग के लिए एक बड़ी सौगात है तथा इस क्षेत्र में चिकित्सा शिक्षा के मामले में यह एक मिसाल बनेगा.’’

(इनपुट भाषा से)