कांग्रेस का शिवराज सिंह को पत्र, कहा- आइटम शब्द गाली है तो प्रतिबंधित करें

जब सरकार का मानना है की 'आइटम ' शब्द गाली है और असम्मानजनक है, इसलिए सरकार के शासकीय कार्यों में इस शब्द के प्रयोग को प्रतिबंधित करने के निर्देश प्रसारित करने की कृपा करें.

कांग्रेस का शिवराज सिंह को पत्र, कहा- आइटम शब्द गाली है तो प्रतिबंधित करें

भोपाल: मध्य प्रदेश में पूर्व सीएम कमलनाथ के इमरती देवी को आइटम बताने वाले बयान पर सियासत में हंगामा मचा हुआ है. हर जगह कमलनाथ की आलोचना की जा रही है. वहीं सोशल मीडिया पर भी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को जमकर घेरा जा रहा था. इस बीच कमलनाथ ने बीजेपी नेता और पूर्व मंत्री इमरती देवी को लेकर दिए बयान पर खेद जताया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मेरा बयान किसी को असम्मानित लगा हो तो मुझे खेद है. उन्होंने कहा कि बीजेपी असली मुद्दों से ध्यान भटका रही है, लेकिन मैंने इन्हें सफल नहीं होने दूंगा. वही इस बीच कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने आइटम शब्द को प्रतिबंधित करने की मांग कर दी.

Video: कैबिनेट मंत्री का विवादित बयान, ''जितने आतंकवादी हुए सब मदरसों से निकले''

गाली है आइटम शब्द
कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने शिवराज को पत्र लिख कहा,  पूरी भाजपा ने 'आइटम' शब्द को अपमानजनक एवं असंसदीय मानकर जनता का करोड़ों रुपये और मानव श्रम का व्यय किया है. पूरे प्रदेश को आपने समझाया है कि यह शब्द गाली है और साथ ही आपने कई संवैधानिक मंचों पर इसे गाली के रूप में प्रचारित कर कार्यवाही करने के लिए शिकायत भी की है. 

सैनिक स्कूलों में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, जानें आवेदन प्रक्रिया सहित पूरी डिटेल्स

प्रतिबंधित करने की मांग
गुप्ता ने अपने पत्र में लिखा कि आप सरकार में हैं और फिलहाल आप अपने इतने उत्तेजक और ठोस विचारों के लिए अपनी सरकार का नेतृत्व कर रहे है. आपके सभी मंत्रीगण भी इस शब्द की निंदा में अलग स्थानों पर धरना कार्यक्रमों में शामिल हुए.  जब सरकार का मानना है की 'आइटम ' शब्द गाली है और असम्मानजनक है, इसलिए सरकार के शासकीय कार्यों में इस शब्द के प्रयोग को प्रतिबंधित करने के निर्देश प्रसारित करने की कृपा करें. प्रदेश को जो संस्कार आप देना चाहते हैं ऐसे अमोल मूल्य और शुचिता की रक्षा करने के लिए आप देश के भाषा विज्ञान विभाग को भी इस शब्द को शब्दकोश से विलोपित करने हेतु मध्य प्रदेश सरकार की ओर से पत्र लिखें. इस संदर्भ में अगर आप प्रधानमंत्री जी को भी पत्र लिख सकेंगे तो मध्य प्रदेश की जनता को यह भरोसा हो जाएगा कि आपका और आपकी पार्टी का चरित्र दोहरा नहीं है आप जो कहते हैं उसमें विश्वास भी करते है.

WATCH LIVE TV